अखिल भारतीय दुर्गा सेना ने करवाया मां बगलामुखी साप्ताहिक हवन यज्ञ

संतों के मार्गदर्शन से दूर होती है अज्ञानता : श्री – श्री 108 स्वामी सिकंदर
जालंधर( विनोद मरवाहा)
समाज में संत चलते फिरते तीर्थ हैं जो समाज को पवित्र करने के लिए भ्रमण करते हैं। तीर्थ स्नान हमारे तन को पवित्र करता है, लेकिन संतों का मिलन हमारे मन एवं तन को पावन बनाता है।
उक्त आशीर्वचन अखिल भारतीय दुर्गा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री – श्री 108 स्वामी सिकंदर जी महाराज ने आज प्राचीन शिव मंदिर, समीप दोमोरिया पुल में आयोजित मां बगलामुखी साप्ताहिक हवन यज्ञ के दौरान कहे। श्री स्वामी जी महाराज ने कहा कि संत महापुरुषों का जीवन सैनिकों की तरह है। सैनिक देश की सीमा की रक्षा अपने बाहुबल से करते हैं और संत समाज में भ्रमण करके फैली हुई बुराइयों को दूर करते है। संत का मिलन शास्त्रों में परम सुखदायक और कल्याणकारी कहा गया है। उन्होंने कहा कि संतों के आने से अज्ञानता दूर होती है एवं सुख मिलता है और जीवन में आने वाली सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान होता है।


इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित मां नीरज रत्न सिकंदर जी ने उपस्थित मां भक्तों को आशीर्वाद दिया। इस हवन यज्ञ में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने आहूतियां डाल मां बगलामुखी का आशीर्वाद लिया।
इस अवसर पर संगठन के पंजाब प्रधान विशाल शर्मा, जिला प्रधान वैभव शर्मा, पं. चक्कर प्रसाद, राकेश महाजन, विशाल कश्यप, अनुराधा कश्यप, हितेश चड्डा, लीना महाजन, तान्या महाजन, अनूप शर्मा, बलजीत सिंह, गुरमुख सिंह, मनमोहन, रेणु मल्होत्रा, बलजीत कौर, लक्ष्मी शर्मा, राजन खन्ना, अमित गुप्ता, जतिंदर सूद, अरविंद कुमार, सुनील पासी, ललित नैय्यर, नीरू शर्मा, मोहित जैन, शंकर दास, मोहित गांधी, अमित गुप्ता, पीयूष जैन, नेहा जैन, विपन जैन, आनंद शर्मा, अनिता राय, विद्या रानी, चंद्रशेखर, रिपन शर्मा, कुमुद शर्मा, पवन बाहरी, तेजिंदर भाटिया, रूप लाल, शाम शर्मा, गोवेर्धन शर्मा, राजेश भारद्वाज, राजू भाटिया, अशोक चड्डा, अनुराग चोपड़ा, सुमन अग्निहोत्री, लता खुल्लर, मीनाक्षी अरोड़ा, तजिंदर कौर, गगनदीप अरोड़ा, अमरजीत कौर, शुकन्तला भसीन, सतपाल सेतिया, तरविंदर सिंह, उत्तम शर्मा, रिंकू मल्होत्रा, अश्वनी भारद्वाज, गगन सचदेवा, सुभाष कोहली, संदीप नारंग, बब्बू शर्मा, वीणा नागपाल, सुनीता शर्मा व अन्य माँ भक्त हाजिर थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.