अखिल भारतीय दुर्गा सेना संगठन(रजि.) की तरफ से साप्ताहिक मां बगलामुखी हवन यज्ञ का आयोजन

जालंधर(विनोद मरवाहा)
अखिल भारतीय दुर्गा सेना संगठन(रजि.) की तरफ से प्राचीन शिव मंदिर, दोमोरिया पुल में श्री-श्री 108 स्वामी सिकंदर जी महाराज की अध्यक्षता में साप्ताहिक मां बगलामुखी हवन यज्ञ का आयोजन किया गया। माँ भक्तों ने हवन यज्ञ में आहुतियां देकर अपने जीवन को कृतार्थ करते हुए मां बगलामुखी का आर्शीवाद प्राप्त किया।
इस अवसर पर श्री-श्री 108 स्वामी सिकंदर जी महाराज ने कहा कि हमें संसार की वस्तुओं से मोह नहीं रखना चाहिए। ये सभी वस्तुएं नश्वर हैं। जब हमने जन्म लिया तो हम अपने साथ कुछ नहीं लेकर आये थे और जब हमारी मृत्यु होगी तब भी हम अपने साथ कुछ नहीं लेकर जायेंगे। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार नदी अपने तेज बहाव से क्षण भर में चीजों को बहाकर ले जाती है, वैसे ही हमारा जीवन भी तेजी से व्यतीत हो रहा है। जब तक हम जीवित हैं और स्वस्थ हैं, हमें अपने शरीर को धर्म कार्यों में लगाना चाहिए। आखिर हमारे सत्कर्म ही हमारी आत्मा को मुक्ति की ओर ले जाएंगे। श्री स्वामी जी महाराज ने कहा कि जीवन समाप्त हो जाये और इच्छाएं बची रहें, तो वह मृत्यु है। जीवन बचा रहे और इच्छाएं समाप्त हो जाएँ, तो वह मोक्ष है। अतः जीवन को नहीं, इच्छाओं को समाप्त करो।
इस अवसर पर इस अवसर पर विशेष रूप से उपस्थित गुरु मां नीरज रतन सिकंदर जी ने कहा कि धर्म के मार्ग पर चलने वालों को ही मोक्ष प्राप्त होता है।


इस अवसर पर संगठन के पंजाब प्रधान विशाल शर्मा, जालंधर प्रधान वैभव शर्मा, कमल मल्होत्रा, तीर निशाने ते (समाचार पत्र) के मुख्य संपादक राकेश महाजन, लक्ष्मी शर्मा, बिन्नी बोहरा, पूजा शर्मा, राधा अरोड़ा, प्राची अरोड़ा, मिताली थापा, लीना महाजन, अनुष्का शर्मा, आशु शर्मा, साहिल वर्मा, धीरज पाहवा,जय के धीर, इंदरपाल सिंह अरोड़ा ,मनोज शर्मा, रूबी ठाकुर,राजीव शर्मा,महेश सिंगला,अमित शर्मा, समीर, सुदेश गुलाटी, पूर्ण चंद थापा, राकेश शर्मा, नीरज जैन, ऋषि शर्मा, निखिल मित्तल, सौरव चोपड़ा, चमन लाल खुराना, प्रिंस अरोड़ा, सिम्मी वर्मा, नीरू शर्मा, ललित जैन, साक्षी शर्मा, अजय मिड्डा, राखी कत्याल, जतिंदर शर्मा, दविंदर अरोड़ा, शिव अग्रवाल, राम कम्बोज, राजू पहलवान, नव कुंद्रा, राज कुमार कलसी, आदि के नाम उल्लेखनीय हैं।

Please select a YouTube embed to display.

Daily Limit Exceeded. The quota will be reset at midnight Pacific Time (PT). You may monitor your quota usage and adjust limits in the API Console: https://console.developers.google.com/apis/api/youtube.googleapis.com/quotas?project=488925842615