अगर चाहिए कम ब्याज दर वाला पर्सनल लोन तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

जालंधर(हलचल नेटवर्क)
लोन लेते समय ग्राहक इस बात पर विशेष ध्यान देते हैं कि ब्याज दर कम से कम हो। जब पर्सनल लोन की बात आती है तो इस पर ब्याज दर सामान्यतया होम लोन और ऑटो लोन सहित दूसरे लोन्स की तुलना में अधिक होती है। आमतौर पर लोन अप्रूव करने से पहले कर्जदाता कई चीजों पर गौर करता है। इनमें लोन की राशि, ग्राहक की भुगतान क्षमता और ग्राहक किस कंपनी में काम कर रहा है, इसकी जानकारी भी शामिल है। अब सवाल यह है कि कम ब्याज दर वाला पर्सनल लोन कैसे लिया जाए। आइए जानते हैं कुछ जरूरी बातें।
एक अच्छा क्रेडिट स्कोर है जरूरी
750 और इससे अधिक का क्रेडिट स्कोर एक अच्छी पर्सनल लोन डील की उम्मीद को बहुत ज्यादा बढ़ा देता है। आप अपने क्रेडिट युटिलाइजेशन रेशियो को 30 फीसद की सीमा में रखकर अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रख सकते हैं। साथ ही हमें नियमित रूप से अपनी क्रेडिट रिपोर्ट को देखते रहना चाहिए।
भुगतान की एक अच्छी हिस्ट्री बरकरार रखें। हमेशा अपने क्रेडिट कार्ड्स के बिल का पूर्ण भुगतान करने की कोशिश करें और हर महीने अपना कर्ज चुका दें। यदि आपने उस समय में कोई और भी लोन लिया हुआ है, तो उसकी ईएमआई भी नियमित समय पर जमा करानी चाहिए। इससे आपको भविष्य में लोन लेने में काफी आसानी होगी। अगर आपकी ईएमआई भुगतान हिस्ट्री अच्छी है, तो आपके लोन पर ब्याज दर के कम होने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं।
सीजनल ऑफर्स का लाभ उठाएं
लोन लेने से पहले ग्राहक को लोन पाने की योग्यताओं और अपनी आवश्यकताओं के आधार पर विभिन्न कर्जदाता कंपनियों की पर्सनल लोन पर ब्याज दरों की तुलना कर लेनी चाहिेए। इसके साथ ही आपको पर्सनल लोन देने वाले विभिन्न कर्जदाताओं के सीजनल ऑफर्स पर भी नजर रखनी चाहिए।
एंप्लॉयर की क्रेडिबिलिटी भी रखती है मायने
जो कर्मचारी जानी-मानी कंपनियों या मल्टीनेशनल कंपनीज में काम करते हैं, उन्हें उनकी पसंदीदा लोन डील्स मिल ही जाती है। यह इसलिए होता है क्योंकि उन कर्मचारियों की जॉब का स्थायित्व अधिक होता है। साथ ही ऐसा माना जाता है कि उन कर्मचारियों की आय स्टेबल होगी और वे समय पर लोन चुका देंगे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.