अहंकार से मुक्ति ही ईश्वर प्राप्ति का जरिया : श्री श्री 108 स्वामी सिकंदर जी महाराज

जालंधर (विनोद मरवाहा)
मन में पवित्रता है तो ही सच्ची भक्ति प्राप्त होती है। अहंकार हमारी भक्ति को कमजोर करता है, जहां अहंकार होगा वहां निरंकार नहीं हो सकता।
इन विचारों का जिक्अखिल भारतीय दुर्गा सेना संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री श्री 108 स्वामी सिकंदर जी महाराज ने संगठन की तरफ से प्राचीन शिव मंदिर, दोमोरिया पुल में आयोजित साप्ताहिक मां बगलामुखी हवन यज्ञ के दौरान साधकों को संबोधित करते हुए किया। श्री स्वामी जी महाराज ने साधकों को भक्ति मार्ग से ईश्वर की प्राप्ति का रास्ता बताते हुए कहा कि निस्वार्थ भाव से की गई भक्ति ईश्वर तक जरूर पहुंचाती है। इसलिए संसारिक सुख को त्याग कर ईश्वर का ध्यान करना चाहिए, जो जीव को मोक्ष के रास्ते पर लेकर जाता है। श्री स्वामी जी महाराज ने कहा कि मन से अहंकार दूर करके ही ईश्वर को प्राप्त किया जा सकता है।
इस अवसर पर गुरु माँ नीरजा रतन सिकंदर जी ने भी साधको को आशीर्वाद दिया। पंडित चक्कर प्रशाद जोशी ने गौरी गणेश पूजन कर हवन यज्ञ मेआहुतिया डाली।
इस अवसर पर संगठन के पंजाब प्रधान विशाल शर्मा, जिला प्रधान वैभव शर्मा, सोनिया(अमृतसर), डॉ.रजनी (दिल्ली), जसवीर सिंह व गुरजिंदर कौर(यू.के.), सुभाष सोंधी (चेयरमैन), रीटा सिक्का, कश्मीरी लाल, इंदरजीत कक्कड़, मुकेश अरोड़ा, विन्नी वोहरा, अमित गुप्ता, राजू शाम चौरासी, राकेश महाजन, लीना महाजन, राजन खन्ना, रजिंदर कुमार, अश्वनी यादव, अमित शर्मा, बलजीत कौर, लक्ष्मी शर्मा, प्रवीण चौधरी, अनुराग अरोड़ा, नरिंदर गुप्ता, सुनील मल्होत्रा, पूजा शर्मा, परवीन हांडा, अरुण शर्मा, अश्वनी मल्होत्रा, पंकज सिक्का, राजू लूथरा, सौरभ शर्मा, राजेश भारद्वाज, विनय शर्मा, मोनिका शर्मा, राजू शर्मा, कृष्ण बब्बर, सुरजीत लूथर, संजय सेतिया, केवल कृष्ण, युग त्रेहन, धीरज मेहता, दुष्यंत वोहरा, लक्ष्मी वोहरा, वीना वोहरा, शालू छाबड़ा, मोहित सिक्का, राजेश सेठ, मोहित जैन, कुसम गुप्ता, रिपन मदान आदि मौजूद थे।