एबीवीपी ने जम्मू-कश्मीर से भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 तथा 35ए हटाए जाने पर लड्डू बांटकर जश्न मनाया

जालंधर(विनोद मरवाहा) अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जालंधर इकाई ने जी.एन.डीयू रीजनल कैंपस लदे वाली, डेवियट कॉलेज में भारत सरकार धारा अनुच्छेद 370 तथा 35ए हटाए जाने पर इस महत्वपूर्ण फैसले का हार्दिक स्वागत किया एवं परिषद-परिषद में लड्डू बांटकर जशन मनाया गया‌। इस मौके पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी को भी याद किया गया तथा उनकी याद में एबीवीपी कार्यकर्ताओं द्वारा 2 मिनट का मौन रखा गया।
इस फैसले को ऐतिहासिक फैसला बताते हुए एबीवीपी के डिस्टिक कन्वीनर अर्जुन त्रेहन ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए विद्यार्थियों को बताया कि श्री मुखर्जी ने कहा था कि एक देश में दो प्रधान, दो विधान, दो निशान, नहीं चलेंगे। त्रेहन ने भारत सरकार के इस फैसले की सराहना करते हुए कहा अब कन्याकुमारी से कश्मीर तक एक भारत होगा अखंड भारत होगा।
महानगर सह मंत्री रोहन कांत ने इस निर्णय के लिए भारत सरकार को बधाई दी और तथा कहा कि एक समय था कि हमेशा सरकार सोचती थी कि आज आंतकी क्या करने वाले हैं पर इस निर्णय से पहली बार आंतकी सोच रहे होंगे कि भारत सरकार अब और क्या करने वाली है। उन्होंने बताया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, 11 सितम्बर 1990 में “चलो कश्मीर” आन्दोलन जिसमे हजारों विद्यार्थियों ने भाग लिया एवं लगातार धारा 370 तथा 35 ए को हटाने के लिए आंदोलन कर रही है, यह कदम लाखों विद्यार्थियों के उस आंदोलन की जीत है।
इस मौके पर एबीवीपी के डिस्टिक कन्वीनर अर्जुन त्रेहन, महानगर सह मंत्री रोहन कांत, दयानंद आयुर्वेदिक कॉलेज अध्यक्ष रजत नंदा, मंत्री अनमोल महाजन ,अमन महाजन, हर्षित कुमार, अभिनव (टिंकू), हर्षित,तनवीर, नवदीप,प्रिंस, वासु, अजय, गौरव, हेमंत, निशांत, अभिषेक भाटिया, जितेश, जतिन आदि मौजूद थे।