कब होगा निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान और क्या हो सकता है बदलाव? आरक्षण का प्रस्ताव तैयार

जालंधर/हलचल नेटवर्क
स्थानीय निकाय के चुनाव दिसंबर में होने हैं लेकिन चुनाव की तारीखों की घोषणा कब होगी, उत्तर प्रदेश में इसका सभी को बेसब्री से इंतजार है. पहले कहा जा रहा था कि आरक्षण का प्रस्ताव तैयार होने के बाद ही राज्य निर्वाचन आयोग चुनाव की तारीखों पर कोई फैसला लेगा और अब आरक्षण का प्रस्ताव नगर विकास विभाग ने लगभग तैयार कर लिया है. माना जा रहा है कि जल्द ही इसे स्वीकृति मिलने के बाद आरक्षण जारी कर दिया जाएगा. हालांकि उसके बाद एक हफ्ते का वक्त इस पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए भी दिया जाएगा और फिर राज्य निर्वाचन आयोग चुनाव की तारीखों का ऐलान करेगा.
उत्तर प्रदेश में एक तरफ जहां 3 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है तो वहीं दिसंबर महीने में ही निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान भी होना है. हर सियासी दल चुनाव की तारीखों का बेसब्री से इंतजार कर रहा है. सत्ताधारी बीजेपी और विपक्षी दल समाजवादी पार्टी, कांग्रेस या बहुजन समाज पार्टी आरक्षण के प्रस्ताव का इंतजार कर रहे हैं क्योंकि आरक्षण का प्रस्ताव तैयार होने के बाद ही यह तय होगा कि किस सीट पर कौन चुनाव लड़ सकता है.
माना जा रहा है कि 2017 के चुनाव में जो सीटें जिस केटेगरी के लिए रिजर्व थीं इस बार चक्रानुक्रम में उनमे बदलाव होगा.