केद्र सरकार ने एक समुदाय के वोट बटोरने के लिए माफ की आंतकी राजोआणा की फांसी : अशोक थापर लुधियाना (राजन मेहरा) शहीद सुखदेव थापर बिग्रेड एंटी टैररिस्ट फ्रंट ने केंद्र सरकार की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री शहीद बेअंत सिंह के हत्यारे बलवंत सिंह राजोआना की फांसी की सजा माफ करने को वोट बैंक की नीति करार देकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह किया कि वह इस मामले में पुर्नविचार करे। फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक थापर ने राजोआणा जैसे खूंखार आंतकियो के कारनामों का जिक्र करते हुए कहा कि राजोआणा जैसे लोग माफी के काबिल नहीं इसलिए ऐसे लोगो को सरे-बाजार फांसी के तख्ते पर लटका चाहिए। राजोआणा की फांसी की माफी की निंदा करते हुए थापर ने कहा कि खूंखार आंतकी राजोआना ने खुद बेअंत सिंह की हत्या का इकबालिया बयान देकर फांसी की सजा माफी के लिए रहम की अपील न करने की बात की थी। ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से एक समुदाय विशेष के वोट बटोरने के लिए खूंखार आंतकी की फांसी की माफी का उठाया गया कदम आंतकवाद को बढ़ावा देकर भविष्य में देश की सम्प्रभुता को खतरे में धकेलने के सामान है। उन्होने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर मोदी सरकार ने फांसी माफी का फैसला वापिस न लिया तो फ्रंट सडक़ों पर उतर कर विरोध जताएगा।

लुधियाना (राजन मेहरा)
शहीद सुखदेव थापर बिग्रेड एंटी टैररिस्ट फ्रंट ने केंद्र सरकार की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री शहीद बेअंत सिंह के हत्यारे बलवंत सिंह राजोआना की फांसी की सजा माफ करने को वोट बैंक की नीति करार देकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह किया कि वह इस मामले में पुर्नविचार करे। फ्रंट के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक थापर ने राजोआणा जैसे खूंखार आंतकियो के कारनामों का जिक्र करते हुए कहा कि राजोआणा जैसे लोग माफी के काबिल नहीं इसलिए ऐसे लोगो को सरे-बाजार फांसी के तख्ते पर लटका चाहिए। राजोआणा की फांसी की माफी की निंदा करते हुए थापर ने कहा कि खूंखार आंतकी राजोआना ने खुद बेअंत सिंह की हत्या का इकबालिया बयान देकर फांसी की सजा माफी के लिए रहम की अपील न करने की बात की थी। ऐसे में केंद्र सरकार की तरफ से एक समुदाय विशेष के वोट बटोरने के लिए खूंखार आंतकी की फांसी की माफी का उठाया गया कदम आंतकवाद को बढ़ावा देकर भविष्य में देश की सम्प्रभुता को खतरे में धकेलने के सामान है। उन्होने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर मोदी सरकार ने फांसी माफी का फैसला वापिस न लिया तो फ्रंट सडक़ों पर उतर कर विरोध जताएगा।