कैप्टन का फ़रमान देश के नागरिकों को जश्न मनाने से रोक नहीं सकता: हनी कंबोज

जालंधर(विनोद मरवाहा)
भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर व लेह -लद्दाख को केंद्रीय शासित प्रदेश घोषित कर तथा धारा 370 और 35 ए को हटाए जाने के फ़ैसले पर जहाँ पूरे देश में ख़ुशी की लहर है वहीं पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अलगाववादियों को समर्थन वाली सोच को उजागर करते हुए प्रदेश में किसी भी तरह की ख़ुशी व जश्न को मनाने पर रोक लगाकर अपनी अलगाववादी समर्थक सोच को बखूबी जगज़ाहिर किया है।
उक्त बात पंजाब भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश सचिव व स्वामी विवेकानंद स्मृति मंच के प्रमुख एडवोकेट हनी कंबोज ने कही है। उन्होंने कहा कि कैप्टन का हिटलर फ़रमान देश के नागरिकों को इतनी बड़ी ख़ुशी मनाने से रोक नहीं सकता। हनी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद स्मृति मंच कैप्टन सरकार के इस फ़ैसले की कड़ी निंदा करता है व मंच दवारा हर्षो उल्लास से लडडू बाँट कर व तिरंगा फहराकर कर इस ख़ुशी को मनाते हुए कैप्टन सरकार के हिटलरी फ़रमान को मुँह तोड़ जवाब दिया जाएगा। हनी ने कहा कि कैप्टन का हिटलरी फ़रमान देश के नागरिकों का दिल दुखाने वाला है। देश की जनता कैप्टन को हिटलरी फ़रमान को जारी करने के लिए कभी माफ़ नही करेगी। हनी ने कहा कि प्रशासन कैप्टन सरकार की ग़लत फरमानों को मानने की बजाए आम जनता को इस ख़ुशी को हर्षो उल्लास से मनाने दे ताकि पूरा देश एक सूत्र में इस बड़ी ख़ुशी को मनाता हुआ दिखाई दे।