कैप्टन के अफसरों से मंत्री दुखी, सोनी ने सुनाई खरी-खरी

अंमृतसर(हलचल नेटवर्क)
कैबिनेट मंत्री नवजोत सिद्धू के बाद ओ.पी सोनी भी अपनी ही सरकार ख़िलाफ़ भड़ास निकालने लगे हैं। वैसे सोनी का निशाना अफसरशाही है। उन को लगता है कि अफसरशाही ने ही उन का मंत्रालय बदलवया है। सोनी ने कहा कि पंजाब में ब्यूरोक्रेसी हावी है। इस पर नुकेल पहनने की ज़रूरत है।
सोनी ने कहा कि वह अफसरशाही से नहीं डरते और जो सत्य था बोल दिया। उन कहा कि पता नहीं बाकी मंत्री अफसरशाही से इतना क्यों डरते हैं परन्तु वह अफ़सरों आगे नहीं झुकेंगे। सोनी ने कहा कि वह कैप्टन के सिपाही हैं और इस बारे मुख्य मंत्री को सब पता है। उन कहा कि वह कांग्रेस पार्टी और कैप्टन अमरिन्दर सिंह के सिपाही हैं परन्तु वह अफसरों आगे नहीं झुकेंगे।
शिक्षा महकमा वापस लिए जाने पर सोनी ने कहा कि उन्हों ने अपनी प्रतिक्रया मुख्य मंत्री को लिखित रूप में दे दी है। मंत्रालय छोड़ने तक के संकेत देते सोनी ने कहा कि उन को किसी से डर नहीं लगता। वह विधायक तो है ही हैं। विधायक बन कर भी वह सेवा करेंगे।
उन कहा कि मुख्यमंत्री को मिल कर ही अगला फ़ैसला लेंगे। मुख्यमंत्री उन को जो ज़िम्मेदारी देंगे, वह उन को मंज़ूर होगी। उन कहा कि पंजाब में पहली बार शिक्षा विभाग के नतीजे बढ़िया रहे परन्तु फिर भी उन के पास से विभाग क्यों वापस लिया गया, इस बारे तो मुख्यमंत्री ही बता सकते हैं।