क्या देखकर वोट करेगी जालंधर की जनता… सांसद का प्रदर्शन या राष्ट्रवाद?

जालंधर से ब्यूरो चीफ विशाल कोहली की विशेष रिपोर्ट
गर्मी बढ़ने के साथ साथ जालंधर का राजनीतिक पारा भी अब चढ़ने लगा है. इस बार फिर कांग्रेस से चौधरी संतोख सिंह चुनाव मैदान में हैं। जालंधर लोकसभा में कई महत्वपूर्ण विधानसभा क्षेत्र है। पिछले कई चुनाव में इस सीट से कांग्रेस को बढ़त मिलती रही है लेकिन इसके बावजूद इस क्षेत्र के विकास के लिए मौजूदा सांसद संतोख सिंह चौधरी का कोई योगदान नहीं रहा। हालांकि स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां के मतदाताओं ने लोकसभा चुनाव में हमेशा राष्ट्रीय मुद्दों को तरजीह दी है। उनका यह भी कहना है कि पिछले चुनाव में कांग्रेस के प्रति यहाँ के मतदाताओं का रुझान देखने को मिला था लेकिन इस बार अभी तक मतदाता खामोश नज़र आ रहे हैं। वह यह भी कहते हैं क्योंकि मौजूदा सांसद ने यहां कुछ भी काम नहीं किया है इसलिए लग रहा है कि मतदाता इस बार सोच-समझ कर ही वोट करेंगे। उनके अनुसार इस बार पुलवामा हमले और सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बदले माहौल में ज़ोर राष्ट्रवाद पर रह सकता है क्योंकि सबसे बड़ा मुद्दा देश की सुरक्षा का है। मोदी जी ने सेना को खुली छूट दी है जिससे सैनिकों का मनोबल बढ़ा है। उनके अनुसार जब हमारी सेना ने पाकिस्तान जाकर आतंकियों को मारा तो हमारा सीना गर्व से फूल गया। ऐसे में अकाली-भाजपा गठबंधन के सांझे उम्मीदवार की जीत की राह अभी से आसान नजरआने लगी है।