जाने किस भाजपा नेता ने की महाजन बिरादरी की तुलना मक्खी, मच्छर और मिटटी से

जालंधर(विनोद मरवाहा)
नववर्ष के अवसर पर एक अखबार में दिए गए इंटरव्यू में पूर्व कैबिनेट मंत्री मास्टर मोहन लाल द्वारा महाजन बिरादरी की तुलना मक्खी, मच्छर और मिटटी से करने से पठानकोट में महाजन बिरादरी की ओर से इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। महाजन बिरादरी ने मास्टर को दिये गए इस बयान पर तत्काल लिखित रुप से माफी मांगने को कहा है।
भाजपा प्रदेश कार्यकारणी सदस्य अक्षय महाजन इसकी कड़े शब्दों में निदा करते शनिवार को पत्रकार सम्मेलन किया। उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री भाजपा मास्टर मोहन लाल की आयु अब 75 वर्ष से ज्यादा हो गई है जिसके कारण वो अपनी मानसिक संतुलन खो चुके है। इसलिए उनको शायद याद नहीं है कि अगर वे आज पठानकोट में रह रहे है तो वे भी महाजनों के बदौलत है चूंकि अगर आज पठानकोट भारत का हिस्सा है तो वो भी सिर्फ और सिर्फ चीफ जस्टिस मेहर चंद महाजन की बदौलत है। क्योंकि चीफ जस्टिस मेहर चंद महाजन जानते थे कि अगर पठानकोट को भारत में शामिल नहीं किया गया तो जम्मू और हिमाचल जाने के लिए भारत के पास कोई रास्ता नहीं मिलना । कहा कि मास्टर मोहन लाल द्वारा महाजनों पर की गई टिप्पणी बेहद निदनीय है। ऐसे में उन्हें तत्काल समूह महाजन बिरादरी से माफी मांगनी चाहिए।
पूर्व कैबिनेट मंत्री मास्टर मोहन लाल ने समूह महाजन बिरादरी से क्षमा मांगते हुए कहा कि किसी भी बिरादरी से मास्टर मोहन लाल उपर नहीं हे। उन्होंने कहा कि महाजन बिरादरी पठानकोट की शान है। यदि मेरा किसी शब्द से महाजन बिरादरी को कोई ठेस पहुंची है या उनकी भावनाएं आहत हुई है तो इसके लिए वह क्षमा प्रार्थी हैं।