ट्रैफ़िक कंट्रोल कर रहे कारगिल जंग के वीर चक्कर विजेता कांस्टेबल अब बनेगें एएसआई

पटियाला(हलचल नेटवर्क)
कारगिल जंग में पाकिस्तानी अफ़सर समेत चार फ़ौजी को मार कर अपनी शूरवीरताका प्रदर्शन करने वाले पंजाब पुलिस के सीनियर कांस्टेबल सतपाल सिंह की तरक्की का रास्ता खुल गया है। बीते दिनों यह ख़बर मीडिया में आने पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कारगिल विजय दिवस मौके सतपाल सिंह को तरक्की देने का फ़ैसला लिया है।


फ़ौज से सेवामुक्त हो कर सतपाल सिंह साल 2010 में पंजाब पुलिस में भर्ती हो गए थे। आम तौर पर पंजाब पुलिस में सिपाही को एएसआई रैक तक तरक्की करने के लिए लगभग 15 साल का समय लगता है। सतपाल सिंह को नौ सालों की नौकरी बदले एक दर्जा बडा कर सहायक सब इंस्पेक्टर का दर्जा ऐलान कर कैप्टन सरकार ख़ुशी महसूस कर रही है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने सतपाल सिंह को अनदेखा करन के लिए पिछली बादल सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया। अब कैप्टन सरकार सतपाल को फिर से एएसआई के तौर पर भर्ती करेगी। सतपाल सिंह का जन्म सन 1973 का होने के कारण उन को विशेष छूट दी जायेगी।