दलित युवक से दरिंदगी, खंभे से बांधकर पीटने और पानी मांगने पर जबरन पेशाब पिलाने का मामला, आज PGI में इलाज दौरान हुई मौत

जालंधर(हलचल नेटवर्क)
संगरूर के गाँव छांगलीवाला में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जहाँ बीते दिनों गाँव के ही कुछ व्यक्तियों की तरफ से एक दलित नौजवान की मारपीट की गई और पेशाब पीने के लिए मजबूर किया था। आज बहुत ही दुखदायी ख़बर मिली है कि पीडित नौजवान की मौत हो गई है। मृतक की पहचान जगमेल सिंह गाँव छांगलीवाला के तौर पर हुई है।
मिली जानकारी अनुसार जगमेल सिंह नाम के दलित नौजवान को गाँव के कुछ व्यक्तियों ने 3घंटे तक बाँध कर रखा गया और उस की राड और डंडों के साथ पीट मार की गई। इन ही नहीं उन व्यक्तियों ने पीडित की टांगों के मांस को प्लास के साथ नोच दिया और जब उस ने पानी माँगा तो उसे बाथरूम में से ला कर पेशाब पिलाया था।
इस घटना के बाद हालत गंभीर होने के कारण नौजवान को पहले संगरूर और फिर रजिन्दरा हस्पताल पटियाला दाख़िल करवाया था, जहाँ उसे मैडीकल सहूलतें प्रदान की गई। इस के बाद उसे पी जी आई
चण्डीगढ़ रैफर कर दिया गया था,जहाँ इन्फ़ेक्शन बढ़ने कारण उस की दोनों टांगें काट दीं गई परन्तु इलाज दौरान आज नौजवान की मौत हो गई है। इस घटना के बाद लहरा पुलिस ने अमरजीत सिंह, लक्की, बिट्टा, उर्फ बिन्दर निवासीछांगलीवाला ख़िलाफ़ अलग -अलग धाराओं और एस सी एक्ट के अंतर्गत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है,जिस पर चलते पुलिस ने चारों दोषियों को गिरफ़्तार कर लिया है।
पंजाब राज अनुसूचित जातियों कमीशन ने ऐस.ऐस.पी. संगरूर से गाँव चंगालीवाल में कुछ व्यक्तियों की तरफ से दलित नौजवान की मारपीट और पेशाब पिलाने का एक मामलो में 28 नवंबर 2019 को रिपोर्ट तलब की है। कमीशन की चेअरपरसन तेजिन्दर कौर ने बताया कि यह मामला अखबार में प्रकाशत ख़बर के द्वारा कमीशन के ध्यान में आया है। उन बताया कि कमीशन ने इस मामले को बहुत गंभीरता के साथ लिया है।