नो पार्किंग जोन में गाड़ी पार्क करना अब पड़ सकता है महंगा, 10 हजार रुपये तक का कट सकता है चालान

(हलचल नेटवर्क)
देश में ट्रैफिक जाम की समस्या काफी बड़ी है. लोग सड़कों पर गाड़ी पार्क कर देते हैं इस कारण सड़कों पर गाड़ी चलाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. ऐसे में ट्रैफिक जाम से बचने के लिए मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) कठोर कदम उठाने जा रही है. मुंबई में अब नो पार्किंग जोन में गाड़ी पार्क करना मालिकों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है.
नो पार्किंग जोन में गाड़ी पकड़े जाने पर बीएमसी अब भारी-भरकम चालान काट सकता है. बीएमसी ऐसे गाड़ी मालिकों पर 1 हजार से लकेर 10 हजार तक का जुर्माना लगा सकता है. बीएमसी सड़कों पर जाम से बचने के लिए यह कदम उठा रहा है. जाम से बचने के लिए सिविक कमिश्नर प्रवीण प्रादेशी ने अपने सभी वार्ड कमिश्नरों से इस नियम को लागू करने के बारे में पूछा है. सिविक कमिश्नर चाहते हैं कि यह नीयम 7 जुलाई से लागू की जाए. जिससे की मुंबईकरों को ट्रैफिक जाम में फंसने से राहत मिल सके. सिविक कमिश्नर चाहते थे कि अवैध पार्किंग में गाड़ी पकड़े जाने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाए. लेकिन, इस नीयम पर बातचीत के बाद तय हुआ कि जुर्माने की राशि को 1 हजार से लेकर 10 हजार तक रखा जाए. जुर्माने की राशि को फ्लैक्सिव दर के हिसाब तय किया जाएगा. जो कि नो पार्किंग जोन और गाड़ी के साइज के हिसाब से तय होगा.
जाम की समस्या न सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी मुंह बाए खड़ा है. लाखों लोग हर दिन ट्रैफिक में फंसते हैं और उनका समय यूं ही जाया हो जाता है. मुंबई में जाम के कारण लोगों को दूरी तय करने में 65 प्रतिशत ज्यादा समय लगता है. जबकि न्यूयॉर्क में 36 फीसदी ज्यादा समय लगता है.
हाल ही में आए रिपोर्ट के मुताबिक विश्व में मुंबई के लोग सबसे ज्यादा समय ट्रैफिक जाम में फंसते हैं. बरसात में यह समस्या और अधिक हो जता है. अगर किसी कारण से ट्रैफिक को डायवर्ट या किसी सड़क को रोका जाता है तब यह समस्या और ज्यादा बड़ा हो जाता है.

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.