पाक में करतारपुर कॉरिडॉर के नजदीक आई एस आई के आतंकवादियों का नया प्रशिक्षण केंद्र खुलने की साजिश का खुलासा करनाकैप्टन अमरिंदर सिंह का सराहनीय कदम : ईशान्त शर्मा

जालन्धर( विशाल कोहली)
शिव सेना हिन्द की एक विशेष बैठक का आयोजन जिला यूथ प्रधान विनय कपूर की अगुवाई में जालन्धर हेड आफिस में किया गया। इस अवसर पर पार्टी के पंजाब अध्यक्ष ईशान्त शर्मा विशेष रुप से उपस्थित हुए।
इस मौके ईशान्त शर्मा ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पाकिस्तानी साजिश का मुहंतोड़ जवाब देकर बेहद ही सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि केप्टन की जितनी सराहना की जाए उतनी कम है। उन्होंने कहा कि शिव सेना हिन्द पंजाब के मुख्यमंत्री के बयान का समर्थन करती है व उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर पंजाब के लिये पाकिस्तानी के नापाक मंसूबे कभी पूरे नहीं होने देंगी। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह के बयान के बाद दुनिया भर के लोगों को पता लग गया है कि पाकिस्तान के नरोवाल जिले में कुछ संदिग्ध गतिविधियां चलाई जा रही हैं। यहां पर कुछ संदिग्ध स्त्री-पुरुष देखे गए हैं जिस के बाद अब हरेक पंजाबी को अलर्ट हो जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा पुन: आशंका जताये जाना कि पाकिस्तान द्वारा कॉरिडोर खोलने का फैसला एक गहरी साजिश के तहत है। यह बिल्कुल ही सत्य ही है । शर्मा ने कहा कि यह पाकिस्तान का बड़ा षडयंत्र है। ईशान्त शर्मा ने कहा कि रेफरेंडम 2020 फेल होने से बोखलाए खालिस्तानी समर्थकों के इशारों पर पाकिस्तान सिखों की भावनाओं की सहानुभूति लेकर हिंदुस्तानी भाईचारे में दरार पैदा करना चाहता है। पंजाबियों को इस मामले में खास तौर पर चौकस रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह आईएसआइ का साजिशन एजेंडा है जिसका उद्देश्य रेफरेंडम-2020 के लिए सिख भाईचारे को प्रभावित करना है और इस पाकिस्तानी साजिश को खालिस्तान समर्थक संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) की ओर से बढ़ावा दिया जा रहा है। शर्मा ने कहा कि शिव सेना हिन्द खालिस्तान समर्थक संगठन सिख फॉर जस्टिस की किसी भी साजिश व षडयंत्र को सफल नही होने देगी।
मुनीश बाहरी ने कहा कि शिव सेना हिन्द के नेताओं को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह व बाकी सिखों की तरह बेहद खुशी है कि हम सब श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा में नतमस्तक होने के लिए जाएंगे। मगर हमें इस बात के लिए भी अलर्ट रहना होगा कि पाकिस्तान की और से कॉरिडोर खोलना आईएसआई का गहन एजेंडा हो सकता है।
इस मौके सूरज कुमार, विनय कपुर, मोहित आदि शामिल हुए।