बच्चा पैदा हुआ तो अस्पताल में छोड़ भाग गए घरवाले

जालंधर(हलचल नेटवर्क)
सिविल हॉस्पिटल सेक्टर-10 फरीदाबाद की स्पेशल नियोनेटल केयर यूनिट (एसएनसीयू) में पिछले 22 दिनों से भर्ती एक नवजात से उसके परिजनों ने किनारा कर लिया है। बच्चे का कुसूर बस इतना है कि वह क्लेफ्ट लिप बीमारी (कटा होंठ) से पीड़ित है। पैदा हुआ तो उसका होंठ कटा हुआ था। अस्पताल प्रबंधन ने रेकॉर्ड में लिखाए पते पर संपर्क किया तो वहां परिवार नहीं मिला। अब प्रबंधन बच्चे को फरीदाबाद के चाइल्ड केयर सेंटर में भेजने की तैयारी में है।
मिली जानकारी के अनुसार, 11 जुलाई को बच्चे को सीएनसीयू में भर्ती किया गया था। उसके बाद से ही उसकी देखरेख के लिए कोई नहीं पहुंचा। अस्पताल की ओर से पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस अस्पताल में लिखे रेकॉर्ड के अनुसार गांव वजीराबाद पहुंची। वहां आसपास रहने वाले लोगों ने बताया कि बच्चे के परिजन अब यहां नहीं रहते। वे मूलरूप से मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। पीएमओ डॉ. दीपा जाखड़ का कहना है कि बच्चा क्लेफ्ट लिप बीमारी से पीड़ित है, जिसमें केवल बच्चे का होंठ कटा हुआ है। यह एक सामान्य से ऑपरेशन से ठीक किया जा सकता है, लेकिन परिजनों की अनुमति के बिना यह संभव नहीं। यहां भर्ती इस नवजात को देखने कोई नहीं आया। ज्यादा दिन एसएनसीयू में रखा तो अन्य बच्चों के साथ रहकर वह अन्य बीमारी से ग्रस्त हो सकता है। इसी के चलते फिलहाल बच्चे को चाइल्ड केयर सेंटर फरीदाबाद में भेजा जा सकता है। इस संबंध में उच्च अधिकारियों से बात की जाएगी।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.