बिना टैग के फास्टैग लेन में घुसने वाले वाहनों से अब तक वसूले 20 करोड़: ट्राई

जालंधर (विशाल कोहली))
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (ट्राई) ने कहा कि उसने टोल प्लाजा पर फास्टैग वाली लेन में घुसने वाले बिना टैग के 18 लाख वाहनों से अब तक 20 करोड़ रुपये वसूल किए हैं। सड़क परिवहन मंत्रालय ने पिछले साल दिसंबर में इलेक्ट्रॉनिक टोल वसूली के लिये फास्टैग की शुरुआत की थी। मंत्रालय ने तब कहा था कि यदि कोई वाहन बिना टैग के समर्पित लेन में घुसता है तो उससे दो गुना टोल वसूल किया जायेगा। प्राधिकरण ने एक बयान में कहा कि फास्टैग लेन में बिना टैग के घुसने वाले वाहनों से दो गुना टोल वसूला जा रहा है। उसने कहा कि अभी तक देश भर में 18 लाख वाहनों ने बिना टैग के फास्टैग लेन में घुसने की कोशिश की है और इनसे 20 करोड़ रुपये वसूले गये हैं जबकिअभी तक देशभर में 1.55 करोड़ से अधिक फास्टैग जारी किये जा चुके हैं।
वहीं कुछ टोल प्रबंधन का कहना हैं कि लोकल वाहन चालक जबरदस्ती फास्ट टेग लेन में घुस जाते हैं जिसके कारण रोजाना 20 से 25 वाहन चालकों से झगड़े हो रहे हैं। 28 फरवरी तक अगर वाहन चालक फास्टैग नहीं लगवाते हैं और फास्टैग लेन से गुजरने पर विवाद करते हैं तो उनके खिलाफ एफआरआई दर्ज करवाई जाएगी।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.