मंदिर प्रांगण में अदभुत चमत्‍कारी श्री हनुमान चालीसा का श्रंखलाबद्ध हुआ पाठ श्रंखलाबद्ध

लुधियाना (राजन मेहरा)
सिद्व पीठ महाबली संकटमोचन श्री हनुमान मंदिर प्रांगण में श्रंखलाबद्ध संध्या चौंकी का आयोजन प्रधान अशोक जैन की अध्यक्षता में किया गया प्रातः मंदिर प्रांगण में 885 वां हवन यज्ञ कटारिया परिवार द्वारा करवाया गया हवन यज्ञ में मंदिर कमेटी के समस्त अधिकारी पदाधिकारियों ने सम्पूर्ण आहुतियां डाल कर जनकल्याण के लिए अरदास की हवन यज्ञ मंदिर के आचार्यों पंडित विष्णु,पंडित देवी दयाल,पंडित रामजी,पंडित सुरेश,पंडित विश्राम,पंडित संजय ने मंत्रोउच्चारण के साथ सम्पूर्ण करवाया।संध्या चौंकी में प्रसिद्ध योग गुरु वरिंदर शर्मा मंदिर द्वारा संकल्प एनजीओ के सहयोग से एक सार एक लय शृंखलाबद्ध श्री हनुमान चालीसा का पाठ किया गया व् श्री बाला जी दरबार समक्ष अपने भजनों के माध्यम से हाजिरी लगाई। संध्या चौंकी में भंडारे की सेवा का सौभाग्य मित्तल परिवार को प्राप्त हुआ। इस अवसर पर प्रधान अशोक जैन ने कहा कि भगवान श्री हनुमान जी भगवान श्री राम जी के परम भक्त हुए हैं। प्रत्येक व्यक्ति के अंदर श्री हनुमान जी जैसी सेवा-भक्ति विद्यमान है। हनुमान-चालीसा एक ऐसी कृति है, जो प्रभु हनुमान जी के माध्यम से व्यक्ति को उसके अंदर विद्यमान गुणों का बोध कराती है। इसके पाठ और मनन करने से बल बुद्धि जागृत होती है। उन्होंने कहा कि हनुमान-चालीसा का पाठ करने से व्यक्ति खुद अपनी शक्ति, भक्ति और कर्तव्यों का आंकलन कर सकता है।प्रधान अशोक जैन ने कहा कि हनुमान चालीसा में भगवान हनुमान के जीवन का सार छुपा है जिसे पढ़ने से जीवन में प्रेरणा मिलती है।संध्या चौंकी के अवसर पर विशेष रूप से मुंबई से कीमली लाल जैन,शशि जैन व् ड्यूक से कंचन जैन श्री बालाजी दरबार में नतमस्तक हुए व् श्री बालाजी चरणों में भाव सहित अरदास की प्रधान अशोक जैन व् मंदिर कमेटी की तरफ से उन्हें विशेष रूप से सन्मानित कर श्री बालाजी महाराज का पवित्र खजाना प्रसाद रूप में दिया गया । इस अवसर पर मंदिर संकीर्तन मंडली के भजन गायक बलजीत सिंह पीता व् रोहित डंग ने भजनो के माध्यम से मंदिर के आचार्यों द्वारा सभी दरबारों में भोग लगाया गया पवित्र श्री बालाजी महाराज का ध्वज लहराया गया व् श्री मेहंदीपुर बालाजी व् सालासर श्री बालाजी धाम के पवित्र छींटे आये भगतों पर दिए गए।मंदिर के आचार्यों पंडित विष्णु,पंडित देवी दयाल,पंडित रामजी,पंडित सुरेश,पंडित विश्राम,पंडित संजय द्वारा विधिविधान के साथ श्री हनुमान चालीसा पाठ किया गया पाठ के उपरान्त संध्या चौंकी को विराम दिया गया।इस अवसर पर इस अवसर पर अमृत लाल वर्मा,सोमनाथ मड़कन,ऋषि जैन,अमन जैन,अनुज मदान,अरविन्द टिल्लू,ज्योति गुप्ता,संजय गुप्ता,सतीश डंग,भारती सोनी,मदन लाल मदान,सन्दीप धमीजा,नवल जैन,निशांत चोपड़ा,विश्वनाथ सेठी,नरिंदर नंदू ,बलजीत सिंह पीता,रोहित डंग,सुनील कुमार,दीपक घई,अशोक गुप्ता,आदि उपस्थित हुए।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.