मालखाने से 1.50 लाख नकदी और सुबूत गायब करने पर एएसआइ पर केस

जालंधर(हलचल न्यूज़)
जंडियाला गुरु (अमृतसर) थाने में तैनात एएसआइ जंग बहादुर के खिलाफ गबन और षड्यंत्र रचने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि एएसआइ ने साल 2018 की एक एफआइआर से मिले सामान (कोर्ट प्रापर्टी) को खुर्दबुर्द कर दिया है। डीएसपी सुखविदर सिंह ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है। एएसआइ जंग बहादुर को फिलहाल निलंबित कर दिया गया है।
एएसआइ शशिपाल सिंह ने पुलिस अधिकारियों को शिकायत में बताया कि वह पहले किसी अन्य थाने में बतौर मुंशी तैनात थे। विभाग की ओर से उसे कुछ समय पहले पदोन्नत किया गया था। इसके बाद उन्हें जंडियाला गुरु थाने में बतौर एएसआइ तैनात किया गया। उन्हें साल 2018 के एक मुकद्दमे की पैरवी करने के आदेश मिले थे। उस मुकद्दमे से जुड़ी कोर्ट प्रापर्टी को जंडियाला गुरु थाने के मालखाने में सुरक्षित रखा गया था। कुछ दिन पहले जब वह कोर्ट प्रापर्टी (सुबूत)को लेने मालखाने पहुंचे तो वहां बैग ही गायब था। जांच में सामने आया है कि इस बैग में 1.50 लाख नकद, डीवीआर और कुछ दस्तावेज थे। इस सामान को संभालने की जिम्मेदारी आरोपित एएसआइ जंग बहादुर को दी गई थी। इस बाबत जब जंग बहादुर से बात की गई तो उन्होंने संतुष्ट जबाव नहीं दिया।
उल्लेखनीय है कि यह यहां पर कोई पहला मामला नहीं है। जनवरी 2021 में जंडियाला गुरु थाने से मुंशी ने मालखाने में रखे 20 लाख रुपये (कोर्ट प्रापर्टी) का गबन कर दिया था। इस बाबत पुलिस ने आरोपित के खिलाफ केस भी दर्ज किया था।