मुर्गों की लड़ाई में ऐसा क्या हुआ कि पल भर में ही छा गया मातम

लुधियाना(राजन कोहली)
देश के अलग-अलग हिस्सों में आयोजित होने वाले मुर्गों की लड़ाई के बारे में आपने काफी कुछ सुना होगा। इस खेल में कई बार मुर्गों की जान चली जाती है लेकिन क्‍या आपने इस लड़ाई में मालिक की जान जाने की घटना सुनी है। कुछ ऐसा ही वाक्या पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में हुआ। बताया जाता है मुर्गे की लड़ाई के दौरान 25 साल के असीम महतौ की मौत हो गई।
पुलिस के मुताबिक, गांव में मुर्गों की लड़ाई का आयोजन किया गया था। इसी दौरान असीम महतो भी अपने मुर्गे के साथ वहां पहुंचा था। पास में ही खड़े हो कर वो अपने मुर्गे की हौसला आफजाई कर रहा था। उसका मुर्गा लड़ाई में जीत गया। जब असीम हारे हुए पक्ष का का मरा हुआ मुर्गा कंधे पर लटकाकर ले जा रहा था, उसी वक्त एक मुर्गे ने असीम के कंधे पर झूल रहे मरे मुर्गे पर अचानक हमला बोल दिया। कहा जा रहा है कि मुर्गे के पैरों में धारदार ब्लेड बंधा हुआ था, जिससे असीम के गले की नली कट गई।
गंभीर हालत में उन्हें पुरुलिया के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन अपस्पताल पहुंचते ही डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस के मुताबिक, इन इलाके में गैरकानूनी तरीके से इस तरह के आयोजन किए जाते हैं। जीतने वाले को इनाम के तौर पर मरा हुआ मुर्गा दिया जाता है।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.