राष्ट्रीय सिख संगत महानगर जालंधर ने पाकिस्तान में गुरु नानक महल तोड़े जाने का विरोध में दिया मांग पत्र

जालंधर (विनोद मरवाहा)
पकिस्तान स्थित ऐतिहासिक गुरु नानक महल में तोड़फोड़ से नाराज व गुस्साए राष्ट्रीय सिख संगत महानगर जालंधर ने पाकिस्तान के खिलाफ प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक मैमरोडम पत्र एडिशनल डिप्टी कमिश्नर स. कुलवंत सिंह को सौंपा।
इस अवसर पर राष्ट्रीय सिख संगत महानगर जालंधर के पदाधिकारियों व सदस्यों ने कहा कि पाकिस्तान के नारोवल क्षेत्र में सिख समुदाय के संस्थापक श्री गुरुनानक देव जी का चार सौ साल पुराना ऐतिहासिक महल है। इस महल की देखरेख की जिम्मेदारी पाकिस्तान सरकार की है। महल में श्री गुरुनानक देव जी के जीवन काल से जुड़ी अहम वस्तुओं को संरक्षित करके रखा गया है लेकिन पाकिस्तान के कुछ अराजक तत्वों ने गुरुनानक देव के महल में तोड़फोड़ का क्षतिग्रस्त करने का काम किया है। इस घटना से देशभर के सभी समुदायोंमें भारी नाराजगी है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के असमाजिक तत्वों ने जो हमारे गुरु पर हमला किया है, ये बहुत ही शर्मनाक और कायराना हरकत है। उन्होंने अपने दिए मांग पत्र में देश के प्रधानमंत्री श्री मोदी से आग्रह किया है कि वह सदियों पुराने गुरु नानक महल को कथित तौर पर तोड़े जाने की घटना की गहन जांच कराने के लिए पाकिस्तान सरकार पर दबाव बनाएं ताकि पकिस्तान में सिख धरोहर से जुड़े ऐसे सभी स्मारकों का सही तरीके से संरक्षण करे ताकि ऐसी घटनाएं फिर नहीं हों।
इस मोके देवकीनन्दन ठुकराल, गुरप्रीत सिंह रिंकू, सुखजिंदर सिंह हीरा, हरप्रीत सिंह बेदी, हरभजन सिंह, निशान सिंह, सुखजिंदर सिंह, सतवीर सिंह, रंजीत सिंह व अन्य सदस्य हाजिर थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.