शिवसेना हिंदुस्तान का पंजाब सरकार व पुलिस प्रशासन को सात दिन का अल्टीमेटम

लुधियाना(राजन मेहरा) शिवसेना हिंदुस्तान के पंजाब प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रकान्त चड्ढा के नेतृत्व में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं मनोज टिंकू,चन्द्र कालड़ा,गौतम सूद व् एडवोकेट नितिन घंड की विशेष उपस्थिति में प्रेसवार्ता वीरवार को लुधियाना के सर्कट हॉउस में आयोजित की गई।प्रेसवार्ता के दौरान शिवसेना हिंदुस्तान के प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रकान्त चड्ढा ने अपने सम्बोधन में बताया कि उनकी पार्टी के उत्तर भारत प्रमुख हनी महाजन पर बीते दिनों हुए जानलेवा हमले के मामले को लेकर पार्टी सुप्रीमो पवन गुप्ता व् राष्ट्रीय महासचिव कृष्ण शर्मा के दिशा निर्देशों पर पंजाब सरकार व् डीजीपी पंजाब को सात दिन का अल्टीमेटम दिया गया है।चन्द्रकान्त चड्ढा ने बताया कि हिंदुत्व व् पार्टी की दिन रात सेवा कर रहे हनी महाजन को पिछले लंबे समय से खालिस्तानी व् अन्य आतंकी संगठनों,रेफरेंडम 2020 समर्थकों द्वारा लगातार जान से मारने की धमकियाँ दी जा रही थी जिसके बारे में पार्टी नेता हनी महाजन ने पंजाब पुलिस के आलाधिकारियों को लिखित रूप में शिकायत भेज कर उनकी सुरक्षा पुख्ता करने की मांग भी की थी किन्तु उनकी सुरक्षा बढ़ाने की बजाय पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता व् अन्य आलाधिकारियों के आदेशों पर हनी महाजन की सुरक्षा बढ़ाने की बजाय उन्हें दिए सभी गनमैन वापिस ले लिए गए जिसका खामियाजा दहशतगर्दीयों द्वारा किए जानलेवा हमले में पार्टी नेता हनी महाजन को गंभीर घायल व् उनके साथी हिन्दू भाई अशोक कुमार को अपनी जान गंवाकर भुगतना पड़ा जिस हमले का पूर्ण जिम्मेदार पुलिस प्रशासन व् पार्टी नेता हनी महाजन की सुरक्षा में दिए गनमैन वापिस लेने वाले आलाधिकारी है।चन्द्रकान्त चड्ढा ने बताया कि शिवसेना हिंदुस्तान के 20 के करीब वरिष्ठ नेताओं को खालिस्तानी व् अन्य देशविरोधी आतंकी संगठनों द्वारा लगातार जान से मारने की धमकियाँ मिल रही है जिनको सुरक्षा मुहैया करवाने बारे कई बार पंजाब पुलिस के आलाधिकारियों को पार्टी सुप्रीमो पवन गुप्ता द्वारा लिखित रूप से भेज दिया गया है किन्तु पंजाब सरकार व् पुलिस प्रशासन हिन्दू नेताओं की सुरक्षा को लेकर बिल्कुल गंभीर नहीं है।चन्द्रकान्त चड्ढा ने गुरदासपुर में शिवसेना नेता हनी महाजन पर हुए जानलेवा हमले के बाद राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा कोई भी प्रतिक्रिया न देने पर अफ़सोस जाहिर करते हुए कहा कि राज्य के 45 प्रतिशत हिन्दू समाज का नेतृत्व करने वाले हिन्दू नेताओं पर हमले होने के बाद कोई प्रतिक्रिया न देकर कैप्टन सरकार ने हिन्दू विरोधी होने का प्रमाण दिया है।चन्द्रकान्त चड्ढा ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि पार्टी नेता हनी महाजन व् उनके साथी पर जानलेवा हमला करने वाले दहशतगर्द जल्द से जल्द काबू करने,हमलावरों की गोलियों से शहीद हुए अशोक कुमार के परिवार को 20 लाख रुपये मुआवजा व् परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने व् शिवसेना हिंदुस्तान के वरिष्ठ नेताओं को सुरक्षा मुहैया करवाने को लेकर दिए गए सात दिन के अल्टीमेटम के बाद पंजाब के सभी हिन्दू संगठनों को साथ लेकर पंजाब सरकार व् डीजीपी पंजाब के खिलाफ राज्य स्तरीय आंदोलन का ऐलान किया जाएगा।इस अवसर पर शिवसेना हिंदुस्तान ट्रांसपोर्ट सेल के प्रदेश प्रमुख मनोज टिंकू,प्रदेश संगठन मंत्री चन्द्र कालड़ा,व्यापार सेना जिला प्रधान गौतम सूद,लीगल सेल जिला प्रधान एडवोकेट नितिन घंड,शहरी प्रधान गगन गग्गी,जिला उपाध्यक्ष कुणाल सूद,शहरी उपाध्यक्ष योगेश बांसल, अखिल कक्कड़,अजय गुगलानी,नमन भाटिया,लक्ष्मण यादव व् विक्की गिल उपस्थित थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.