श्री गुरु रविदास जी का दिल्ली के तुग़लकाबाद में मंदिर तोड़ने के विरोध में आज मनाया काला दिवस

फगवाड़ा( दिनेश शर्मा, रमेश )
दिल्ली के तुग़लकाबाद में दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर श्री गुरु रविदास मंदिर को तोड़े जाने के विरोध में आज फगवाड़ा में कई जत्थेबंदियों व लोक इंसाफ पार्टी के स्थानीय नेता जरनैल नंगल के नेतृत्व में स्वतन्त्रता दिवस व रक्षा बन्धन को विरोध स्वरूप ‘काला दिवस’ मनाया गया। रविदासिया भाईचारे के लोगों ने जी टी रोड़ शुगर मिल्ज चौक में अपने सिरों पर काली पटियां व हाथों में काले झंडे लेकर केंद्र सरकार के विरुद्ध नारे बाजी की। इस अवसर पर लोक इन्साफ पार्टी के प्रधान जरनैल नंगल ने कहा कि दिल्ली स्तिथ तुगलकबाद मंदिर सैकडों वर्ष पुराना मंदिर है। आज से तकरीबन पाँच सौ वर्ष पहले उस ज़माने के राजा सिकंदर लोधी ने स्वयं श्री गुरु रविदास महाराज जी को13 बीघा ज़मीन मंदिर बनाने के लिए दी थी पर मोदी सरकार के अधीन दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी (डीडीए) ने भगवान श्री रविदास महाराज जी के मंदिर को गिरानें में कोई भी कोर कसर नहीं छोड़ी। उनका कहना था कि बिना जांच पड़ताल के छह सौ साल पुराने मंदिर व विश्राम धाम को तोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि देश में करीब 30 करोड़ लोग हैं, जिनकी आस्था संत रविदास जी पर है। फिर भी मोदी सरकार द्वारा लोगों की आस्था के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि लोगों की आस्था का ध्यान रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा वहां मंदिर को पुन: स्थापित कराया जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो समूचा रविदास भाई चारा सड़कों पर उतर कर उग्र प्रदर्शन करेगा जिसकी सारी जिमेदारी केंद्र सरकार की होगी।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.