साढ़े तीन सालों में पंजाब का बेड़ा गर्क किया कैप्टन सरकार ने : प्रदीप खुल्लर

जालन्धर (योगेश कत्याल)
भारतीय जनता पार्टी जिला जालंधर शहरी के उपाध्यक्ष प्रदीप खुल्लर ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पंजाब में पिछले साढे 3 वर्षों में कांग्रस की कैप्टन सरकार है और इस सरकार ने विकास एवं रोजगार का कोई भी काम नही किया। साडे 3 वर्षों में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह एवं साथी विधायक मंत्रियों ने पंजाब का बेड़ा गर्क कर दिया है। पंजाब में चारो और हाहाकार मची है लोग बहुत पछता रहे है जे सरकार बना के जब से पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार आई है तब से खुशहाली नामक कोई चीज नहीं है। सन 2017 में आम जनता को कैपटन अमरिंदर सिंह जी ने मूर्ख बनाया और झूठ बोलकर वोट ली कैप्टन अमरिंदर सिंह के किए झूठे वादों पर जो विश्वास जनता ने किया था की कैप्टन सरकार हमारे बच्चों को शिक्षा के लिए रुपए देगी, पढ़ाई के लिए लैपटॉप देगी, घर घर नोकरी मिलेगी, विधवा औरतों एवं बुढ़ापा पेंशन में बढ़ावा होगा, जरूरत मंद बेटियो की शादी में शगुन स्किम के पैसों में बढ़ावा होगा, नीले कार्ड राशन में बढ़ोतरी होगी, पंजाब के सभी नोजवानो को बढ़िया कंपनी के मोबाइल दिएजायेगे और भी बहुत से वादे किये थे अपने मैनिफेस्टो में पर सब फेल एवं झूठी साबित हुई।
प्रदीप खुल्लर ने बताया कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सरकार बनने के लिए गुरु साहिब जी की पवित्र बानी को हाथ मे लेकर झूठ बोला। कैप्टन ने गुटका साहिब हाथ मे पकड़ के कहा था कि मैं पंजाब में 4 हफ्तों में नशा खत्म कर दूंगा। पर आज लगभग 4 साल हो गए कैप्टन सरकार बनी को इसमें नशा खत्म नहीं हुआ बल्कि नशे में बढ़ोतरी हुई है। बढ़ोतरी के चलते लगभग 125 से ज्यादा लोग कैप्टन सरकार के लोगों द्वारा बनाई गई शराब पी के मर चुके हैं। बहुत से लोग अपनि आंखों की रोशनी खो चुके है। और बहुत से नौजवान जो हर रोज मर रहे हैं पिछले 4 सालों से चिट्टा अफीम शराब के नशे ने कई परिवारो को बर्बाद कर दिया है। संसार का अन्न दाता किसान कैप्टन सरकार में आत्म ह्त्या कर रहा है। कोरोना काल मे पंजाब सरकार जनता की सेवा करने में बिल्कुल फेल साबित होई है। मोदी सरकार ने जो अनाज एवं माली सहायत पंजाब को भेजी व पूरी तरह लोगो तक पहुच नही पाई। पंजाब की जवानी नशे से मर रही है। किसान कर्ज की खतिर मर रहा है। नोजवान बेरुजगार घूम रहे है। उदर कैप्टन साहिब अपनी मस्ती में मस्त है। जिसकी जिम्मेवार सीधे तौर पर पंजाब सरकार है। कैप्टन ने पंजाब को हाशिए पर खड़ा कर दिया है। सड़के टूटी पड़ी है। शहरों गांव में पानी, पार्क एवं बहुत सी समस्या है जिसका सरकार कोई हल नही निकाल रही। सरकार को कुंभकर्ण की नींद से जगाने की जरूरत है तभी पंजाब का भला होगा। घर घर से सरकार के खिलाफ आवाज आएगी तभी कैप्टन एवं उसे विधायक जागेंगे।