सीवर के मैनहोल में उतरे पांच मजदूरों की दम घुटने से मौत

जालंधर(हलचल पंजाब नेटवर्क)
नगर निगम व कार्यदायी एजेंसी ईएमएस इंफ्राकॉन की लापरवाही के चलते सिहानी गेट थाने के नंदग्राम क्षेत्र स्थित कृष्ण कुंज-3 कॉलोनी गाजियाबाद में गुरुवार को पांच मजदूरों की जान चली गई। इस इलाके में सीवर लाइन डालने का काम चल रहा है। कृष्ण कुंज में एक घर के सामने बने सीवर चैंबर को मेन लाइन से जोड़ने के लिए मजदूर गए थे। एक मजदूर ने जैसे ही सीवर लाइन का ढक्कन खोला, वह चैंबर में गिरकर बेहोश हो गया। उसे बचाने आए बाकी के मजदूर भी चैंबर में उतरे और बेहोश हो गए। यह देखकर सामने के दुकानदार राजवीर ने शोर मचाया और साथी मजदूर जितेंद्र व साजिद ने मास्क लगाकर मैनहोल में उतरकर पांचों को बाहर निकाला। उन्हें अस्पताल भेजा गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सभी मजदूर बिहार के समस्तीपुर के रहने वाले थे। हादसे के बाद उप्र के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है।
चार अफसर भी निलंबित: प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने जल निगम की यमुना प्रदूषण इकाई के महाप्रबंधक कृष्णमोहन यादव, अतिरिक्त प्रकल्प खंड के अधिशासी अभियंता रवींद्र सिंह, सहायक अभियंता प्रवीण कुमार और अवर अभियंता अजमत अली को निलंबित कर दिया।