सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या में रामलला का मंदिर बनवाने का ऐतिहासिक फैसला सराहनीय : कुनाल शर्मा

लुधियाना(राजन मेहरा) सुप्रीम कोर्ट द्वारा अयोध्या में पिछले लंबे समय से चल रहे राम मंदिर और बाबरी मस्जिद के विवाद को खत्म करते हुए कल ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए रामलला का भव्य मंदिर बनवाने का आदेश दिया। जिस पर सभी पक्षों ने इस फ़ैसले का शांतमय ढँग से स्वागत किया।
इस दौरान समाज सेवी संस्था एक्शन अगेंस्ट करप्शन व बाबा अमरनाथ बर्फ़ानी सेवा दल, पँजाब के सदस्यों ने संस्था के सरप्रस्त चंद्रकांत चड्ढा के दिशा निर्देश पर एक्शन अगेंस्ट करप्शन के जिलाध्यक्ष कुनाल शर्मा व बाबा अमरनाथ बर्फ़ानी सेवा दल, पँजाब के लुधियाना प्रमुख सौरव महेंद्रु की अध्यक्षता में लुधियाना के मिलरगंज स्थित शिव शक्ति मंदिर में भगवान राम चंद्र जी के भवन में दिये जला दीपमाला कर खुशी व्यक्त की।
कुनाल शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक फ़ैसले का स्वागत करते हुए कहा कि वह और उनकी संस्था एक्शन अगेंस्ट करप्शन व बाबा अमरनाथ बर्फ़ानी सेवा दल, पँजाब सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद करते है। उन्होंने बताया कि अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर बहुत लंबे समय से जो विवाद चल रहा था उसको आज सुप्रीम कोर्ट ने वहाँ पर श्री रामलला का भव्य मंदिर बनवाने का आदेश देकर खत्म कर दिया है ।
कुनाल शर्मा व सौरव महेंद्रु ने इस फ़ैसले पर सभी देशवासियों द्वारा शांति बनाए रखने और आपस मे मिलजुल कर रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि असली दीपावली तो आज बनती है जब इतने लंबे समय बाद श्री रामलला जी का भव्य मंदिर बनवाने का फ़ैसला आया है । उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का इस फ़ैसले पर धन्यवाद करते हुए उनसे यह अपील भी की कि जल्द ही मंदिर का निर्माण कार्य शुरू करवाया जाए। इस अवसर पर शिव शक्ति मंदिर के पूजनीय पंडित श्री राज शास्त्री जी , सतीश सेठी, विपन शर्मा , वरुण खन्ना, राहुल थमन, केशव शर्मा , सपिंदर सिंह, करन अंगरिश, लककी शर्मा व गुरविंदर सिंह आदि उपस्थित थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.