यौन शोषण की शिकार महिला IAS ने सुनाई आपबीती, कहा-मुझे जान का खतरा

नई दिल्ली(हलचल नेटवर्क)
हरियाणा सरकार के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली 28 वर्षीय आईएएस महिला अधिकारी मीडिया के सामने आई है और अपनी आपबीती सुनाई है. महिला आईएएस अधिकारी ने बताया कि सुनील गुलाटी ने मेरा यौन शोषण किया और मुझे धमकी दी. उन्‍होंने बताया कि ऐसी घटनाएं मेरे साथ पहले भी हुई थीं जब मैं अंबाला, कोस्ली और दबवाली में तैनात थी. इसके बारे में मैंने अधिकारियों से शिकायत की है. मुझे जान का खतरा है. महिला आईपीएस ने बताया कि उन्होंने मुझे रोहतक में बैठक के लिए बुलाया. मुझे उनके साथ 2.30 से 5 बजे तक अकेला रहना पड़ा. उन्होंने मुझे इसके बाद अकेले चंडीगढ़ लौटने का निर्देश दिया. उन अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई जिन्होंने मुझे पहले भी परेशान किया था.
वहीं इस मामले में हरियाणा के एडिशनल चीफ सक्रेटरी ने कहा कि जो आरोप उन पर लगाए गए हैं वह आधारहीन हैं. एक महीने पहले उनकी यहां पोस्टिंग हुई थी. धीरे-धीरे हमें पता चला कि वह परेशानियों का सामना कर रही हैं. मैंने स्‍टॉफ से उनका ध्यान रखने को कहा, जबकि उन्होंने हमारे साथ दुर्व्यवहार तक किया. उन्‍होंने कहा कि कर्मचारियों को प्रशिक्षित करना मेरा कर्तव्य है. यह उस भी निर्भर करता है कि वह सीखने सीखने को तैयार है. अगर उसे परेशान किया जा रहा है तो सरकार उसका ट्रांसफर कर सकती है. मैं जांच के लिए तैयार हूं, यहां तक ​​कि मैं लाई डिटेक्टर टेस्ट के लिए भी तैयार हूं जबकि पीड़िता महिला अधिकारी ने अपने वरिष्ठ के दावे को खारिज किया और कहा कि सीसीटीवी फुटेज की जांच होने से सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा.