अब ऐसी कॉल पर DIAL 100 वाले अपना सर न पीटें तो क्या करें?

उतर प्रदेश सरकार ने डायल 100 सेवा इसलिए शुरू की थी ताकि अपराध को रोका जा सके और पीड़ित को जल्द से जल्द पुलिस की सहायता मिल सके. लेकिन अब लगता है कि डायल 100 वालों को ही मदद की दरकार है. ऐसा इसलिए कि उनके पास ऐसी कॉल्स आ रही हैं जिनका कोई समाधान नहीं है. मामला गोंडा जिले के पेंडराही गाँव का है, जहां डायल 100 पर सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस टीम को ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ा कि उन्होंने अपना सिर पीट लिया. हुआ यह कि शुक्रवार सुबह पेंडराही के रहने वाले ग्रामीण राम बुझारत ने 100 नंबर पर कॉल करके अपने आपको पत्नी से पीड़ित बताया. सूचना पर पुलिस उसके घर पर पहुंची. राम बुझारत ने कॉल करके पत्नी से पीड़ित होने का जो कारण बताया वह बड़ा ही दिलचस्प तो था लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप का कोई मामला नहीं बनता था. बकौल राम बुझारत जब वह शुक्रवार की सुअभ उठा तो उसने अपनी पत्नी से चाय बनाने को कहा. लेकिन पत्नी ने उसे चाय बनाकर नही दी. इस पर राम बुझारत ने आव देखा न ताव, सीधा 100 नम्बर डायल कर दिया. Read This – काशी में दिव्यांग और ट्रांसजेंडर जलाएंगे गंगा की अविरलता की अलख इस मामले में एसओ गोरखनाथ सरोज ने बताया कि राम बुझारत गुस्से में आ गया था, इसलिए उसने अपने को पत्नी से पीड़ित बताते हुए 100 नंबर पर कॉल कर दी थी. पुलिस ने मामला जानने के बाद दोनों को समझाया-बुझाया और पत्नी के हाथों चाय बनवाकर उसे भी पिलवा भी दी.

4 thoughts on “अब ऐसी कॉल पर DIAL 100 वाले अपना सर न पीटें तो क्या करें?

Comments are closed.