खेल-खेल में कहीं जेल न पहुंचा दे व्हाट्सएेप, ऐसे बरतें सावधानी

जालंधर (हलचल नेटवर्क)
हम आपको व्हाट्सएेप के इस्तेमाल में बरते जानेवाले एहतियात के बारे में बता रहे हैं. इन्हें ध्यान में रखते हुए ही आप व्हाट्सएेप का इस्तेमाल करें, वरना आपको खेल-खेल में जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है.
अश्लील मेसेजेज न करें शेयर :
कई लोग व्हाट्सऐप का इस्तेमाल अपनी मित्र मंडली के बीच अश्लील चुटकुले, तसवीरें और वीडियोज शेयर करने के लिए करते हैं. अगर आप भी उनमें से एक हैं, तो अब सावधान हो जायें.ऐसा करना साइबर क्राइम के तहत दंडनीय अपराध है.
फेक मेसेज शेयर करने से बचें :
व्हाट्सऐप पर विभिन्न स्रोतों से हर रोज तरह-तरह के मेसेजेज आते रहते हैं. अगर आपके पास कोई ऐसा मेसेज आता है, जिसके बारे में आपको जरा भी संदेह हो कि वह मेसेज फेक, अफवाह, तथ्यहीन है, तो उसे बिलकुल शेयर न करें.
फेक फोटो शेयर करना भी जुर्म :
फेक मेसेजेज की ही तरह व्हाट्सऐप पर आये दिन ऐसी तसवीरें वायरल होती रहती हैं, जो फेक यानी नकली होती हैं. आम तौर पर एडिट की गयी इन तसवीरों में सिर किसी का और धड़ किसी का होता है. और तो और, ऐसी कई तसवीरों में अनाप-शनाप बातें भी लिखी गयी होती हैं. अगर आपको भी ऐसी कोई तसवीर मिलती है तो हमारी आपको यही सलाह होगी कि इस तरह की फोटो को शेयर न करें.
धार्मिक भावनाएं न करें आहत :
हम सबने यह पढ़ा और सुना है कि दुनिया के सभी धर्म एक समान हैं. अफसोस की बात यह है कि हम में से कम ही लोग ऐसे हैं, जो इस बात को समझते हैं. ज्यादातर लोग अपने धर्म को महान समझते हैं और दूसरे को कमतर. अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो ध्यान रहे कि आपका यह ख्याल आपके व्हाट्सएेप पोस्ट या मैसेज में न झलके. किसी धर्म के विरुद्ध कोई मेसेज शेयर करना आपको जेल की हवा खिलाने के लिए काफी है.
परिचित को ही जोड़ें व्हाट्सऐप ग्रुप में :
जैसा कि हम सभी जानते हैं कि व्हाट्सएेप के प्लेटफॉर्म पर आप इंडिविजुअल चैट के साथ ही ग्रुप चैट भी कर सकते हैं. ज्यादातर ग्रुप्स में फैमिली, दोस्त या ऑफिस से जुड़े लोग शामिल होते हैं. लेकिन कुछ ग्रुप्स ऐसे भी होते हैं, जिनमें हम हर किसी को नहीं जानते हैं. इन ग्रुप्स के मेंबर तभी बनें, जब आप उन सभी मेंबर्स को जानते हों वरना यह आपके लिए सिरदर्द बन सकता है.
ग्रुप एडमिन की सतर्कता जरूरी :
व्हाट्सएेप में अगर आप किसी ग्रुप के एडमिन हैं, तो आपकी सतर्कता जरूरी है. यदि आपके ग्रुप में कोई मेंबर गलत या फेक मेसेज डालता है, तो उस पर कार्रवाई जरूर करें. आप चाहें तो उस मेंबर को ग्रुप से हटा सकते हैं. अगर किसी ग्रुप में कोई मेंबर इस तरह की अफवाह या गलत भाषा के मेसेज को शेयर करता है, तो इसकी जिम्मेवारी ग्रुप एडमिन को लेनी पड़ेगी.

3 thoughts on “खेल-खेल में कहीं जेल न पहुंचा दे व्हाट्सएेप, ऐसे बरतें सावधानी

Comments are closed.