देश के इतिहास में पहली बार विदेशी पूंजी निवेश 54% बढ़ा : मोहिंदर भगत

जालंधर(अवनीत मसंद)
प्रधानमंत्री मोदी की सरकार बनने के बाद देश में विदेशी पूंजी निवेश में ऐतिहासिक वृद्धि हुई है। चालू वित्त वर्ष के सितंबर माह तक देश में 25.35 बिलियन डॉलर का निवेश हो चुका है, जो यूपीए के दस सालों के राज में किसी एक वर्ष में विदेशी निवेश से सबसे अधिक है।
यह बात भाजपा उपाध्यक्ष पंजाब श्री महेंद्र भगत ने आज यहाँ एक जारी ब्यान में कही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने देश की आर्थिक व्यवस्था के ढांचे को मजबूत करने के लिए जिन ऐतिहासिक और साहसिक कदमों को उठाया है, उसी का यह परिणाम है कि विदेशी निवेशकों को भी अब भारत निवेश के लिए आकर्षक लगने लगा है। श्री भगत के अनुसार कोई भी विदेशी निवेशक अपनी पूंजी को उन्हीं देशों में लगाते हैं, जहां स्थायित्व के साथ-साथ उद्योगों को स्थापित करने के नियमों में सरलता और पारदर्शिता होती है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में नोटबंदी और जीएसटी को लागू करने से देश की आर्थिक व्यवस्था अधिक पारदर्शी हुई है।
श्री भगत ने कहा कि 2014 में मोदी सरकार बनने पर प्रधानमंत्री जी ने मेक इन इंडिया एक नारा दिया था। इसी नारे के तहत मोदी साहब ने विदेशी दौरे किए और विदेशी कंपनियों को निवेश करने के लिए प्रेरित किया। पिछले 4 सालों में मोदी सरकार बनने के बाद 15 लाख करोड़ से ज्यादा विदेशी निवेश हुआ है और मेक इन इंडिया को बाहरी समर्थन मिला।
श्री भगत के अनुसार जिससे देश में उद्योग बढ़ा है और बेरोजगारों को रोजगार भी मिला है। वही विदेशों में हमारे देश की क्रेडिबिलिटी भी पहले से कहीं अधिक बढ़ी है और दुनिया के बड़े देशों के साथ संबंध सुधरे हैं। सब को आतंकवाद के खिलाफ इकट्ठा किया है जो दुनिया की खुशहाली के लिए जरूरी है। इन सब उपलब्धियों को देखते हुए 2019 में राजग की सरकार दोबारा बननी शत-प्रतिशत तय है।
श्री भगत ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी देश में धन की इस बड़े पैमाने पर जरूरत को सत्ता संभालने के पहले दिन ही समझ चुके थे, इसलिए उन्होंने उन आर्थिक सुधारों पर बल दिया जिससे विदेशी निवेश को बड़े पैमाने पर लाया जा सके।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.