तत्काल ई-टिकट रैकेट का भंडाफोड़, पहली बार डेढ़ करोड़ रुपए के 6600 टिकट रद्द, सिर्फ एक क्लिक में तत्काल कोटे के 100 कंफर्म टिकट बुक कर लेते थे एजेंट

सूरत(हलचल निकटवर्क)
मध्य रेलवे आरपीएफ ने तत्काल ई-टिकट बुक करने वाले एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया है। यह रैकेट अनधिकृत सॉफ्टवेयर ‘काउंटर’ के द्वारा चंद सेकंड में सैकड़ों तत्काल टिकट बुक कर देता था। रैकेट के मास्टरमाइंड सलमान खान को मध्य रेलवे के मुंबई डिविजन के ठाणे में  गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास ई-टिकट बुक करने का लाइसेंस भी नहीं है। उसका नेटवर्क पूरे देश में फैला हुआ है। काउंटर सॉफ्टवेयर के द्वारा बुक किए गए डेढ़ करोड़ रुपए के 6600 तत्काल ई-टिकट रेलवे ने  ब्लॉक कर दिए। यानी जिनके पास ये रद्द किए जा चुके टिकट हैं, वे अब यात्रा नहीं कर सकेंगे। ये टिकट देशभर से बुक हुए थे, लेकिन पश्चिम और मध्य रेलवे के टिकट सबसे ज्यादा हैं।

रेल अधिकारियों ने बताया कि काउंटर सॉफ्टवेयर के जरिए सलमान रेलवे रिजर्वेशन सिस्टम को हैक कर लेता था। वह माउस के सिर्फ एक क्लिक से एक बार में 100 कंफर्म तत्काल ई-टिकट बुक कर लेता था। किसी को शक न हो, इसके लिए अपने कंप्यूटर का पासवर्ड बार-बार बदल देता था।

जिनके टिकट ब्लॉक, उन्हें एसएमएस से दी जा रही सूचना
जिनके तत्काल ई-टिकट ब्लाॅक किए गए हैं, उनके मोबाइल नंबर पर रेलवे एसएमएस भेजकर सूचना दे रहा है, लेकिन कई बार एजेंट टिकट बुक करते समय यात्री के बजाय अपना मोबाइल नंबर लिख देते हैं, ऐसे में संबंधित यात्रियों को टिकट ब्लॉक किए जाने की सूचना नहीं मिल सकेगी। ऐसे में यात्री खुद रेलवे की वेबसाइट पर अपना पीएनआर नंबर डालकर चेक कर सकते हैं।