फ़ूड सप्लाई विभाग अधिकारी ने ट्रांसपोर्टर पर गलत मुकदमा दर्ज़ करवाया : अशोक सरीन

जितना तेल टैंक में है उसका सारा परचेस बिल मौजूद प्राइवेट सेल नहीं करते ट्रांसपोटर
क्या राज है पिछले 10-15 सालो डी.फ़.एस.ओं नीलकंठ शर्मा जालंधर में ही क्यों और कैसे रहता है
ईमानदार बोलकर सरकार चलाने वाले अमरिंदर सिंह पेट्रोल पंप एवं पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स वालो से महीने लेने की जाँच करवाएं
कानून मुताबिक ट्रांसपोर्टर या कोई भी व्यक्ति 2500 लीटर रख सकता है
बीपीसी एचपीसी में सरेआम सरेआम तेल चोरी के अड्डे लगे है
जालंधर (विशेष )
कल रात को थाना 8 में डीजल स्टोर करने के मामले में दर्ज़ हुए मुक़दमे की आज समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों के बाद एक प्रेस वार्ता के दोरान इंडियन आयल टैंकर यूनियन के उप-प्रधान युवा भाजपा नेता अशोक सरीन एवं यूनियन मैम्बर ट्रांसपोटरो ने बताया कि ट्रांसपोर्टर या कोई व्यक्ति अपने पास 2500 लीटर डीज़ल रख सकता है। जिसके अनुसार ट्रांसपोर्टर सरवन शर्मा ने अपने टैंकरों के लिए डीज़ल स्टोर करके रखा हुआ था, जिसके सभी डीजल खरीदने के बिल उनके पास मौजूद हैं। वहां प्राइवेट तेल सेल नहीं किया जाता, इसलिए खुद प्रयोग करने के लिये मशीन की जाँच करवाना अनिवार्य नहीं है जबकि अगर प्राइवेट बेचे तो करवाना जरूरी होता है।
श्री सरीन ने बताया फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारी ने कानून के उल्ट जाकर ट्रांसपोर्टर पर गलत मुकदमा दर्ज़ करवाया जिसकी जाँच पुलिस अधिकारी करें कि वहा टैंक में कितना तेल था और किस पम्प से आया था और जितना तेल टैंक में है उसका सारा परचेस बिल मौजूद है या नहीं। श्री सरीन ने कहा पिछले 10-15 वर्षों से डी.ऍफ़.एस.ओं नीलकंठ शर्मा जालंधर ही क्यों रहता है, अगर एक बार बदली हो भी जाये तो दोबारा वापिस जालंधर क्यों और कैसे आ जाता है, इस राज की जाँच भी होनी चाहिये।
श्री सरीन ने खुद की सरकार को ईमानदार बोलने वाले मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से पेट्रोल पंप एवं पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स बेचने वालों से महीने लेने के इस काले कारोबार सेटिंग की जाँच करवाने कि मांग की है। श्री सरीन ने कहा कानून मुताबिक ट्रांसपोर्टर या कोई भी व्यक्ति 2500 लीटर डीजल अपने रख सकता है। श्री सरीन ने कहा कि जालंधर इंडियन आयल डिपो गैस एजेंसी सुरक्षा के नज़रिये से बहुत गंभीर मामला है। तेल चोरो के बारे जालंधर पुलिस कमिश्नर को कई बार बोल गया है परन्तु तेल माफिया फ़ूड सप्लाई विभाग और कुछ अधिकारियो की मिलीभगत से बीपीसी एचपीसी में सरेआम तेल चोरी के अड्डे लगे है, जहा सरेआम चोरी का तेल बिक रहा है। श्री सरीन ने यह भी बताया कि कुछ लोग इस मामले को काले तेल के कारोबार से जोड़ रहे है जबकि असलियत में कोई काले तेल का कारोबार नही चलता जबकि काले तेल के कारोबारियों के साथ नीलकंठ शर्मा मिलता है जिसकी टेलीफ़ोन रिकॉर्ड से इसके महीने लेने का खेल जगजाहिर हो जायेगा। श्री सरीन ने बताया जालंधर की कई इंडस्ट्री के अंदर 10-10 हजार डीजल पड़ा रहता है, वहा से नीलकंठ शर्मा महीने लेता है, इसकी जाँच भी होनी चाहिये।
श्री सरीन ने अंत में कहा कि उन्होंने न कभी गलत कारोबार करने वालो का समर्थन किया है न करेंगे जबकि प्रशासन में जो काली भेड़े मौजूद है उनके खिलाफ जंग आगे भी जारी रहेगी। इस अवसर पर ट्रांसपोटर अमरजीत सिंह साबी,महिंद्र सिंह,अंग्रेज सिंह,सुरजीत सिंह फौजी,कर्मजीत सिंह गिल,जसविन्द्र सिंह,मनीष शर्मा,सुरिन्दर सिंह,आशीष कुमार व अन्य ट्रांसपोटर मौजूद थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.

5 thoughts on “फ़ूड सप्लाई विभाग अधिकारी ने ट्रांसपोर्टर पर गलत मुकदमा दर्ज़ करवाया : अशोक सरीन

Comments are closed.