श्वेत मलिक ने एससी-एसटी कानून को अपने पुराने स्वरूप में फिर से लागू करने के लिए केंद्र सरकार का जताया आभार

अमृतसर(हलचल नेटवर्क)
लोकसभा में एस.सी./ एस.टी कानून के स्वरूप से छेड़छाड़ न करने के के सरकार द्वारा प्रस्ताव पारित करने पर दलित समाज व पिछड़े वर्ग में खुशी का माहोल है। इसी सिलसिले में भारतीय जनता पार्टी जिला अमृतसर द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता जिला भाजपा अध्यक्ष आनंद शर्मा ने की जबकि मुख्यअतिथी के रूप में राज्यसभा सासंद व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्वेत मलिक नें भाग लिया।
इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्ता को संबोधित करते हुए श्री मलिक ने कहा कि 70 साल के कार्यकाल में कांग्रेस सरकार नें दलित समाज व पिछड़ा वर्गअनसुचित जाति वर्ग को कोई लाभ नही पहुचाया है । कांग्रेस नें हमेंशा इस समाज को श्रेणी 3 ओर 4 तक ही सीमित रखा है ओर हमेंशा अपने वोट बैंक के लिए ही उनका इस्तेमाल किया है। लेकिन मोदी सरकार के कुश्ल नेतृत्व में ही दलित समाज पिछड़ा वर्ग और अनसुचित जाती वर्ग का उत्थान हुआ है।
श्री मलिक ने कहा कि इसका मुख्य कारण मोदी जी का खुद एक गरीब परिवार से संबधित होने है। वह इस समाज के लोगो की पीड़ा व दुख तकलीफो को भली,भांती समझते है। इसी लिए मोदी जी नें सत्ता में आते ही मिशन रखा था कि यह सरकार गरीबो, दलितो, पिछड़े वर्ग व आम जनता की सरकार है ओर चार सालो के बेमिसाल कार्यकाल में उन्होने प्राथमिक्ता के आधार पर इन समाज के लोगो का कार्य किया है ओर समाज में इनको उच्च स्थान दिलाने का प्रयास किया है।
श्री मलिक नें कहा कि भ्रष्टाचारीयों से काला धन इक्कट्ठा करके इन वर्गो के कल्याणकारी कार्यो में खर्च किया है ओर आज मोदी जी के कारण ही यह सख्त कानून पारित हुआ है। पिछड़े सोशित वर्ग के लिए ही एक कमीश्न बनाया गया है ताकिं कोई इन वर्ग के लोगो का शोषण न कर सके ओर इस समाज के लोग देश के हर वर्ग के साथ समान्यता से कंधे से कंधा मिलाकर चल सके। मलिक ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने हमेशा दलित समुदाय की भावनाओं की कदर की है। कांग्रेस पार्टी ने उच्चत्तम न्यालय दुबारा एस.सी/एस.टी.कानून पर कुछ बदलाव की व्यवस्था देने के मामले में खूब राजनीतिक रोटियाँ सेंकते हुए दलित भाईचारे को मोदी सरकार के खिलाफ भड़काने की कोशिश की।
श्री मलिक ने कहा कि अब दलित भाईचारा कांग्रेस की चालो को समझ चुका है। जिसके चलते वो इनकी चालों में आने वाला नहीं है। जबकि कांग्रेस और अन्य विपक्षी पार्टीयां यह भली भांति जानती थी कि बदलाब में सरकार का कोई लेना देना नही है और यह उच्चत्तम न्यायलय द्वारा किया गया है। श्री मलिक ने कहा कि मोदी सरकार ने दलित भाईचारे की समस्या को ध्यान में रखते हुये पहले उच्चत्तम न्यायलय में पुनर्विचार याचिका दायर की। लेकिन प्रधानमंत्री जी ने लोकसभा में यह प्रस्ताव पास करवाने का निर्णय लिया कि जिससे उच्चत्तम न्यायलय भी एस.सी./ एस.टी. कानून में बदलाव ना कर सके। इस लोकसभा सत्र में यह प्रस्ताव सरकार द्वारा पास कर दिया गया है । अब कोई भी इस कानून के मूल स्वरूप से छेड़छाड़ नही कर सकता। श्री मलिक ने कहाकि हमारी सरकार सब का साथ सब का विकास चाहती है । मोदी सरकार सब के लिये बराबर के अधिकार लागू कर रही है तांकि समाज मे भेदभाव की सोच को समाप्त किया जा सके।
इस मौके राष्ट्रीय भाजपा सचिव तरूण चुघ नें कहा कि आज अनुसूचित जाति समाज के लोगों के लिए बहुत ही अच्छी बात है कि जो केंद्र सरकार की तरफ से अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अध्यादेश 2018 जो कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा निरस्त किया गया था उसको लोकसभा तथा राज्यसभा बिल को पास किया गया है। । इस अवसर पर प्रदेश भाजपा प्रवक्ता केवल कुमार, प्रदेश सचिव राकेश गिल, सुरेश महाजन, वरिष्ठ भाजपा नेता डा. बलदेव राज चावला, स. रजिंदर मोहन सिंह छीना, जिला भाजपा अध्यक्ष आनन्द शर्मा ने भी मोदी के जन कल्याणकारी कार्यो की सराहना की।
इस अवसर पर प्रदेश मीडिया प्रभारी मेजर गिल, वरूण पुरी, डा. हरविंदर संद्धू, बख्शी राम अरोड़ा, अनुज सिक्का, गोतम अरोड़ा, सलिल कपूर, टींकू, वरिंदर भट्टी, शशी गिल, बलविंदर गिल, गोरव गिल, लविंदर बंटी, जरनैल सिंह ढोट, डा. राम चावला, जनार्दन शर्मा, राजेश कंधारी, संजीव खोसला, अल्का शर्मा, ज्योती बाला, दीपक सैहगल, मीनू सहगल, अविनाश शैला, सुशील देवगन, धर्मपाल शर्मा, रजिंदर सैक्ट्री, एकता वोहरा, तुक्स मसीह, सतपाल डोगरा, तजिंदर बिल्ला, गोपाल वर्मा, पवन खन्ना, अश्वनी चौपड़ा, अंकुश मेहरा, मोनू महाजन, शेखर लूधरा, बलदेव धवन, रखा राम, राम लुभाया सहित भाजपा के कार्यकर्त्ता हजारों की संख्या में उपस्थित थे।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.