रेफरेंडम 2020 को जड़ से उखाड़ने के लिए शिव सेनिकों ने भरी हुंकार, मिशन “खात्मा रेफरेंडम 2020” की शुरुआत

जालंधर (केवल कृष्ण)
शिव सेना हिन्द की एक राष्ट्रीय स्तरीय विशेष बैठक का खन्ना में आयोजन किया गया। इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष निशांत शर्मा और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महंत कश्मीर गिरी जी महाराज विशेष तौर पर उपस्थित हुए। इस मौके शिव सेना हिन्द के पदाधिकारियों व नेताओ ने खालिस्तान समर्थकों द्वारा शुरू की गई रेफरेंडम 2020 की मुहिम को ध्वस्त करने के लिए खास रणनीति तैयार की।
राष्ट्रीय अध्यक्ष निशांत शर्मा और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महंत कश्मीर गिरी जी महाराज ने जानकारी देते हुए बताया कि आज की बैठक के दौरान शिव सेना हिन्द ने मिशन “खात्मा रेफरेंडम 2020” का शंखनाद फूंक दिया है। उन्होंने बताया कि पंजाब भर में के सभी शहरों में हस्ताक्षर अभियान शुरू करने जा रही है। उन्होंने कहा कि जहा एक तरफ खालिस्तान समर्थकों द्वारा रेफरेंडम 2020 मुहिम के अंतर्गत अलग देश की मांग को लेकर सिखों का जनसमर्थन जुटाने के लिए हस्ताक्षर लेने की योजना बना रहा है। वही दूसरी और शिव सेना हिन्द के राष्ट्रीय व पंजाब स्तरीय नेताओ के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान और संकल्प सभाओं का आयोजन कर के सिख परिवारों से अपील करेगी कि क्या आप पंजाब में हिन्दू सिख भाईचारे की एकता को मजबूत और अखंड रखना चाहते हो और क्या आप चाहते हो कि पंजाब में हिन्दू और सिख एकजुट होकर रहे।ऐसे उत्तम सोच रखने वाले लाखों सिखों के हस्ताक्षर लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब में लाखों सिख यही चाहते है कि पंजाब भर में हिन्दू सिख भाईचारा मजबूती से बना रहा। जिस का प्रमाण कट्टर खालिस्तान समर्थक सिमरनजीत सिंह मान की पार्टी अकालीदल मान को चुनावो में पंजाब के सिखों से करारा तमाचा पड़ने के बाद मिल जाता है। उन्होंने कहा कि पंजाब में शिव सैनिक न कही रेफरेंडम 2020 के पोस्टर लगने देगी न ही कोई हस्ताक्षर अभियान ही चलाने देगी।


इस मौके उत्तर भारत चैयरमेन राजिंदर धारीवाल और पंजाब अध्यक्ष इशांत शर्मा ने कहा कि हजारों शिव सैनिक कुर्बान हो जाएंगे मगर पंजाब भर तो दूर पंजाब की एक इंच की धरती पर खालिस्तान नही बनने देंगे। उन्होंने कहा कि आज की बैठक में शिव सेनिकों की दहाड़ ने खालिस्तान समर्थकों में बौखलाहट पैदा कर दी है। उन्हें पंजाब भर में रेफरेंडम 2020 मुहिम को सफल बनाने के लिए शिव सैनिकों की मजबूत दीवार को भेद कर निकलना होगा।
उन्होंने कहा कि खालिस्तानी आंतकी भले ही हथियारों के दम पर निहत्थे शिव सेनिकों पर हमला कर नपुंसक और कायराना हरकतों को अंजाम दें मगर खालिस्तान का सपना 2020 में नही बल्कि 2018 में ही चकनाचूर कर के रखने के लिए शिव सैनिक मैदान में उतर चुके है।
उन्होंने कहा कि पंजाब के टुकड़े करने वाले देश द्रोहियों के सपने कभी भी पूरा नही होने देगी। शिव सेना हिन्द मैदान में उतर कर खलिस्तानी मुहिम की कमर तोड़ कर रख देगी।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.