उद्धव ने फिर तरेरीं आंखें, मोदी सरकार को कहा जुमलेबाज, 2019 में अलग होंगी राहें

मुबंई (हलचल नेटवर्क)
शिवसेना से दूरी को पाटने के लिए अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से भले ही मुंबई आकर मुलाकात की हो, लेकिन शिवसेना इस खाई को पाटने के मूड में नजर नहीं आ रही है. अगले लोकसभा चुनावों में शिवसेना के अकेले दम पर चुनाव लड़ने की बात दोहराते हुए उद्धव ठाकरे ने ऐलान किया है कि श्रीनिवास वनगा पालघर लोकसभा क्षेत्र से पार्टी के उम्मीदवार होंगे. दिलचस्प बात है कि हाल ही में संपन्न लोकसभा उपचुनाव में वनगा बीजेपी उम्मीदवार राजेंद्र गाविते से हार गए थे.
शिवसेना के 52वें स्थापना दिवस के मौके पर उद्धव ठाकरे ने पार्टी कार्यकर्ताओं से घर-घर जाने को कहा. उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा, ‘ आप लोग घर-घर जाइए और पता कीजिए कि केंद्र और राज्यसरकार की योजनाओं का लाभ लोगों को मिल पा रहा है या नहीं. उन्होंने (बीजेपी) संपर्क फॉर समर्थन अभियान की शुरुआत की है, आप सत्य शोधन अभियान चलाइए. आप पता करिए कि लोगों को योजनाओं का लाभ मिल पा रहा है या नहीं.’
उद्धव ठाकरे ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि लोकसभा चुनाव इसी साल दिसंबर में होंगे. यह चुनाव अप्रैल-मई में नहीं होंगे. उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि वे चुनावी तैयारी में जुट जाएं. उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री शिवसेना से होगा.
शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. शिवसेना ने कहा कि बीजेपी की फसल लहलहा रही है और देश का किसान और उसकी खेती कोमा में जा चुकी है, लेकिन मोदी सरकार बार-बार जुमलेबाजी करने में लगी हुई है.
शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में लिखे संपादकीय में बीजेपी पर निशाना साधा है. पार्टी ने कहा कि जो गरजते हैं, वो बरसते नहीं. मौजूदा सत्ताधारियों पर यह कहावत सटीक लागू होती है. उन्होंने कहा कि असमीति घोषणाएं और उसी जुमलेबाजी से अब देश की जनता परेशान हो चुकी है.

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.