राजनीति के क्षेत्र में सिद्धू की स्थिति नाच ना जाने आँगन टेड़ा वाली : सन्नी शर्मा , कहा: श्वेत मलिक पर हमला सिद्धू की हताशा का प्रतीक, हमले का माकूल जवाब देंगे

जालंधर(विनोद मरवाहा)
भारतीय जनता युवा मोर्चा के पंजाब अध्यक्ष सन्नी शर्मा ने भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व राज्यसभा सदस्य इंजीनियर श्वेत मलिक पर पंजाब के स्थानीय निकायमंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा उन पर हमला करवाने के सिद्धू की बौखलाहट करार दिया है।
श्री शर्मा ने राजनीति में सिद्धू की स्थिति को नाच ना जाने आँगन टेड़ा वाली बताते हुए कहा कि सिद्धू
मनोरंजन की दुनिया में तो एक कामयाब मसखरे हो सकते हैं लेकिन राजनीति में वह पूरी तरह एक नाकामयाब नेता व मंत्री है। शर्मा ने कहा कि यह इस बात से साबित होता है कि सांसद रहते सिद्धू की लोक सभा में हाजिरी मात्र 23 प्रतिशत रही जबकि राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ की पृष्ठभूमि के साथ कई दशकों पहले राजनीति में आये श्री मलिक की हाजिरी आज के समय में 95 प्रतिशत है। शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि सिद्धू स्वार्थ की राजनीति करते हैं। उनकी सोच केवल व केवल अपने परिवार के इर्द गिर्द ही घूमती है कि कैसे अपनी पत्नी व पुत्र को राजनीति के दम पर सरकारी महकमों में एडजस्ट कराया जाए जबकि श्री मलिक थोड़े ही समय में जनहितैषी नेता के रूप में एक परिपक्व राजनीतिज्ञ बनकर उभरे हैं।
सन्नी ने कहा कि अपनी इसी घटिया सोच के चलते सिद्धू आज अपने निर्वाचन क्षेत्र के साथ साथ कांग्रेस का भरोसा भी पूरी तरह खो चुके हैं। यह हमला सिद्धू की हताशा का प्रतीक है और अपनी नाकामयाबियों को छिपाने के लिए गुंडागर्दी पर उतर आये है। सन्नी ने कहा कि गुंडागर्दी सिद्धू के खून में ही है। अपने जवानी के दिनों में भी सिद्धू ने 27 दिसंबर,1988 को पटियाला में शेरांवाला गेट चौरोह के गुरनाम सिंह नामक एक व्यक्ति को बुरी तरह पीटा था और अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी। अपने झगड़ालू स्वाभाव के चलते वह आज भी लड़ते झगड़ते रहते हैं। यही कारण है कि सिद्धू काम करने में विश्वास नहीं रखते हुए हमेशा लड़ते झगड़ते रहते हैं।
सन्नी ने कहा कि भाजयुमो सिद्धू की इस तरह की गुंडागर्दी को किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगा और राज्य के हरेक जिला में जनता के बीच जाकर लोकतान्त्रिक ढंग से सिद्धू की इस गुंडागर्दी का पर्दाफाश करेगा। उन्होंने कहा कि यदि सिद्धू ने अपनी इस घटिया हरकत को लेकर सार्वजानिक रूप से माफ़ी न मांगी तो भाजयुमो हरेक जिला में सिद्धू का घेराव एवं विरोध करेगा।
उन्होंने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से गुंडा प्रवृति के मंत्री सिद्धू को तत्काल मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग भी की है।

Please select a YouTube embed to display.

The request cannot be completed because you have exceeded your quota.